चार धाम जाने वाले यात्रियों का पंजीकरण स्लाट 3000 से बढ़कर हुआ 5000! जानिये, रजिस्ट्रेशन कराने का पूरा नियम

चार धाम यात्रा के लिए ऋषिकेश में पर्याप्त बसों की संख्या है, जिनके माध्यम से यात्रियों को पंजीकरण के उपरांत ही चार धाम के लिए रवाना किया जा रहा है।

अब चार धाम यात्रा के दौरान पंजीकरण करवाने वाले यात्रियों का स्लाट 3000 से बढ़ाकर 5000 कर दिया गया है। इसके साथ ही आज से यात्रियों की सुविधा के लिए पंजीकरण के लिए टोकन सिस्टम भी प्रारंभ कर दिया गया है। यात्रियों का ऋषिकेश में अतिथि देवो भव के साथ स्वागत किया जाएगा।

जिला अधिकारी डा. आर. राजेश ने 2 जून को ऋषिकेश आईएसबीटी पर यात्रियों को हो रही पंजीकरण के दौरान असुविधाओं को सुधारे जाने की दिशा में किए गए निरीक्षण के उपरांत मीडिया को जानकारी दी। जिलाधिकारी ने पत्रकारों को बताया कि पिछले दो-तीन दिनों से चार धाम यात्रा पर जाने वाले यात्रियों की संख्या में वृद्धि होने के बाद कुछ अव्यवस्थाओं की जानकारी प्राप्त हुई थी। इसे शासन ने गंभीरता से लिया है। स्थानीय अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी के बाद बस टर्मिनल कंपाउंड में सो रहे यात्रियों की सुविधा के लिए 4 मोबाइल शौचालय ,पीने के पानी के लिए टैंकरों की व्यवस्था के अतिरिक्त पंजीकरण कार्यालय के बाहर यात्रियों को धूप से बचाने के लिए लगाए गए टेंट को बढ़ा दिया गया है।

ये भी पढ़ें – पंजाब में उनकी वीआईपी सुरक्षा फिर होगी वापस, मान का निर्णय न्यायालय में अमान्य

पंजीकरण के लिए टोकन सिस्टम प्रारंभ
उन्होंने बताया कि आईएसबीटी पर पीने के पानी के टैंकर और यात्रियों की सुविधा के लिए दो और कूलर लगाए जाने की व्यवस्था की जा रही है। इसी के साथ आज से पंजीकरण के लिए टोकन सिस्टम प्रारंभ कर दिया गया है। उनके बैठने के लिए सीसीआर के माध्यम से बेंचें भी लगाई जा रही हैं। उन्होंने आईएसबीटी पर पंजीकरण कार्यालय सहित तमाम व्यवस्थाओं का मौके पर निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि ऋषिकेश में पहले यात्रियों का पंजीकरण स्लाट 3000 था, जिसे अब बढ़ाकर 5000 कर दिया गया है यदि आवश्यकता पड़ी तो इसे और बढ़ा दिया जाएगा। इसके बाद यात्रियों को कोई परेशानी नहीं होगी।

ऋषिकेश में पर्याप्त बसों की संख्या
उन्होंने बताया कि ऋषिकेश में पेयजल और विद्युत व्यवस्था को 24 घंटे जारी रखा जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि जो लोग बस टर्मिनल कंपाउंड में सो रहे हैं। उनके लिए प्रशासन ने नगर के पास वेडिंग प्वॉइंट में ठहरने की व्यवस्था की गई है, जिससे किसी को परेशानियों का सामना ना करना पड़े। इसी के साथ उन्होंने पंजीकरण की लाइन में लगे यात्रियों के बेहोश होने की घटना को भी गंभीरता से लिया। उन्होंने कहा कि चार धाम यात्रा के लिए ऋषिकेश में पर्याप्त बसों की संख्या है, जिनके माध्यम से यात्रियों को पंजीकरण के उपरांत ही चार धाम के लिए रवाना किया जा रहा है।

जिला अधिकारी के साथ निरीक्षण के दौरान आरटीओ अरविंद पांडे ,उप जिलाधिकारी शैलेंद्र सिंह नेगी, तहसीलदार अमृता शर्मा, ऊर्जा निगम के सहायक अभियंता अरविंद नेगी ,नगर निगम आयुक्त गिरीश चंद्र गुणवंत, सहित तमाम विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here