रेल मंत्री का बड़ा फैसला, बदली जाएंगी पटरियां

रेल मंत्री वैष्णव ने घटनास्थल पर पहुंचकर क्षतिग्रस्त ट्रैक को चेक किया। भविष्य में इस तरह का हादसा न हो, इसके लिए दिशा-निर्देश दिए।

राजस्थान के पाली जिले में सूर्यनगरी एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतरने की घटना के बाद रेलवे ने देशभर में बिछाई गई इस तरह की 1900 किलोमीटर की पटरियां बदलने का निर्णय किया है। हादसे वाली जगह का मुआयना करने के बाद रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने इसकी घोषणा की है।

… फिर न हो ऐसा हादसा
रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव दो जनवरी की शाम पाली पहुंचे। उन्होंने कहा कि ट्रैक निर्माण में कमी रही है, इसलिए पटरियां अब चेंज करेंगे, ताकि पाली जैसा हादसा फिर कभी न हो। ट्रैक रिकॉर्ड समय में ठीक कर दिया गया है। मंगलवार सुबह से दोबारा गाड़ियां इस ट्रैक पर चलने लगीं। पटरी में तकनीकी खराबी थी। रेल मंत्री खुद पटरी पर उतरे और क्षतिग्रस्त ट्रैक को चेक किया। भविष्य में इस तरह का हादसा न हो, इसके लिए दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि पटरी में एक तकनीकी खराबी है। इसे रात में पूरी तरह ठीक कर दिया गया है। सुबह से इस ट्रैक पर दोबारा गाड़ियों का संचालन आरंभ हो गया है। प्रारंभिक जांच में सामने आया कि फैक्ट्री में रेलवे ट्रैक निर्माण के दौरान कुछ कमी रही है। इसलिए, देशभर में उस स्लॉट में बना 1900 किमी ट्रैक बदला जाएगा। इसको लेकर आदेश दे दिए हैं। ताकि, कहीं दूसरी जगह इस तरह का हादसा न हो।

पहले जैसे दौड़ने लगीं ट्रेनें
रेलवे के सीपीआरओ शशि किरण ने बताया कि रेल मार्ग को सोमवार की रात 10:05 बजे दुरुस्त कर दिया गया और लाइट इंजन नंबर 12839 चलाकर ट्रैक का ट्रायल भी कर लिया गया है। इसके बाद प्रथम मालगाड़ी संख्या IOTS/NELM BTPNE LOCO- 12208 को बोमादड़ा से 11:15 बजे रवाना कर घटनास्थल से गुजारते हुए 11:45 बजे राजकियावास ले जाया गया। इस रेलखंड पर 11:49 बजे पहले की तरह गाड़ियां दौड़ने लगी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here