‘तांडव’ पर क्यों मचा है ‘तांडव’?

'तांडव' के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी के सांसद मनोज कोटक ने सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर को पत्र लिखकर शिकायत की है। इसके साथ ही महाराष्ट्र के बीजेपी विधायक राम कदम ने मुंबई के घाटकोपर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कराया है।

निर्देशक अली अब्बास जफर की नई वेब सीरीज तांडव को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। इस वेब सीरीज में भगवान राम, नारद और शिव के अपमान करने के आराोप लगाए जा रहे हैं। इसके बाद सोशल मीडिया पर इसे बैन करने की मांग जोर पकड़ चुकी है। इसके साथ ही मुंबई और लखनऊ में शिकायत भी दर्ज कराई गई है।

लखनऊ में शिकायत दर्ज
उत्तर प्रदेश के लखनऊ के हजरतगंज पुलिस स्टेशन में इसके खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है। इसी पुलिस स्टेशन के एक सब इंस्पेक्टर ने मामला दर्ज कराया है। मामले में योगी सरकार के एक अधिकारी ने गिरफ्तारी की चेतावनी दी है।  सीरीज में हिंदू देवी देवताओं के अपमान किए जाने का मामला दर्ज कराया गया है। शिकायत में आरोप लगाया है कि पहले एपिसोड के 17वें मिनट पर हिंदू देवी-देवताओं को अपमान करनेवाले दृश्य के साथ ही निम्न स्तर की भाषा का इस्तेमाल किया गया है। यह धार्मिक भावनाओं को भड़कानेवाला है।

ये खबर मराठी में भी पढ़ेंः वेब सिरीजवरून का होत आहे पुन्हा ‘तांडव’? दुखावल्या जात आहेत भावना

ये भी पढ़ेंः ट्रैक्टर रैली पर सर्वोच्च फैसला!

मुंबई में भी मामला दर्ज
बीजेपी विधायक राम कदम ने भी हिंदू देवी-देवताओं के अपमान करने की शिकायत मुंबई के घाटकोपर पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई है। उन्होंने अपनी शिकायत में वेब सीरीज के अभिनेता,निर्देशक और निर्माताओं के खिलाफ सख्त कार्रावई करने की मांग की है।

कपिल मिश्रा ने भी किया विरोध
दिल्ली में बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर लिखा है, ‘तांडव वेब सीरीज दलित विरोधी और हिंदुओं के खिलाफ सांप्रदायिकता से भरी हुई है।’

बिहार में भी मामला दर्ज
बिहार के मुजफ्फरपुर में एक वकील ने तांडव से जुड़े 96 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है।

बीजेपी सांसद ने की शिकायत
 भारतीय जनता पार्टी के सांसद मनोज कोटक ने सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर को पत्र लिखकर शिकायत की है। कोटक ने पत्र में बेव सीरीज के निर्माताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। कोटक ने कहा है कि तांडव वेब सीरीज में हिंदू भावनाएं भड़काने की कोशिश की गई है। उन्होंने पत्र में लिखा है, ‘ओटीटी प्लेटफॉर्म के पूरी तरह सेंशरशिप से आजाद होने के कारण बार-बार हिंदू भावनाओं को आहत किए जा रहे हैं। इसकी मैं कड़ी निंदा करता हूं।’

15 जनवरी को हुई है रिलीज
अली जाफर की नई वेब सीरीज तांडव 15 जनवरी को रिलीज हुई है। इसके बाद से ही यह विवादों में घिर गई है। सोशल मीडिया पर एक समूह इसका खुलकर विरोध कर रहा है और इसे बैन करने की मांग कर रहा है। एक यूजर ने लिखा है, ‘अली  जाफर तांडव के डाइरेक्टर हैं और इसमें वे पूरी तरह से लेफ्ट विंग के एजेंडे को आगे बढ़ाने में जुटे हैं। वह टुकड़े-टुकड़े गैंग को ग्लोरीफाई कर रहे हैं।’

विरोध की वजह
एक सीन में अभिनेता जीशान अयूब भगवान शिव बने नजर आ रहे हैं। वह यूनिवर्सिटी के छात्रों को संबोधित करते हुए कहते हैं, ‘आखिर आपको किससे आजादी चाहिए। इस पर मंच संचालक कहता है,’नारायण-नारायण प्रभु, कुछ कीजिए। रामजी के फॉलोअर्स लगातार सोशल मीडिया पर बढ़ते जा रहे हैं।’ इसके साथ ही एक और डायलॉग में जाति विशेष को लेकर विवादास्पद टिप्पणी की गई है

इनकी है भूमिका
इस वेब सीरीज में सैफ अली खान, डिंपल कपाड़िया, तिग्मांशु धूलिया, जीशान अय्यूब, सुनील ग्रोवर, गौहर खान, कृतिका कामरा मुख्य भूमिका में हैं। इससे पहले निर्देशक अली जाफर टाइगर जिंदा है, सुल्तान जैसी फिल्मो का निर्देशन कर चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here