उप्र में 125 धार्मिक स्थलों से उतरवाए गए लाउडस्पीकर, इतने हजार मस्जिदों पर स्वेच्छा से कम की गई आवाज

उप्र में लगभग 17 हजार लोगों ने स्वेच्छा से लाउडस्पीकर की आवाज को कम कर दिया है, जबकि 125 धार्मिक स्थलों से उतरवाए गए हैं।

पूरे देश में चल रहे लाउडस्पीकर विवाद के बाद उत्तर प्रदेश में सभी धर्म के लोगों की सहमति के बाद 125 धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर उतरवाए गए हैं। इसके अलावा लगभग 17 हजार लोगों ने स्वेच्छा से लाउडस्पीकर की आवाजें कम की हैं। यह कहना है उत्तर प्रदेश के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) प्रशांत कुमार का।

परंपरागत तरीके से मनाए जाएंगे सभी त्योहार
उन्होंने कहा कि शासन और पुलिस मुख्यालय के जो निर्देश है वो स्पष्ट है कि जो भी त्योहार हो, परंपरागत तरीके से मनाया जाना है। इस संबंध में शासन से यह भी निर्देश है कि ध्वनि और आवाज इत्यादि के बारे भी स्पष्ट कहा है कि उच्च न्यायालय के निर्देशों को पालन हो। उन्होंने कहा कि अलविदा की नमाज व इसके पहले जो अन्य धर्मों के भी त्योहार हुए हैं उसके अनुपालन में लगभग 37,344 धर्मगुरुओं से वार्ता की गयी है। पुलिस ने लगभग 125 लाउडस्पीकर उतरवाएं हैं, जबकि लगभग 17 हजार लोगों ने स्वेच्छा से लाउडस्पीकर की आवाज को कम कर दिया है।

ये भी पढ़ें – कांग्रेस में नहीं शामिल होंगे प्रशांत किशोर! उनकी कंपनी के इस कदम से मिले संकेत

अलविदा की नमाज पर सुरक्षा का पुख्ता प्रबंध
उन्होंने यह भी बताया कि अलविदा की नमाज लगभग 31 हजार जगहों पर होनी है। इसके अतिरिक्त 75 हजार ईदगाह और 20 हजार मस्जिदों में नमाज पढ़ी जानी है। इसके ध्यान में रखते हुए संवेदनशील जिलों में 45 कंपनी पीएसी, सात कंपनी सीआरपीएफ और स्थानीय पुलिस फोर्स की तैनाती की जा रही है।

अपर मुख्य सचिव गृह होम ने मांग है रिपोर्ट
उन्होंने ने यह भी बताया कि अपर मुख्य सचिव गृह होम अवनीश अवस्थी ने 30 अप्रैल तक धार्मिक स्थलों से अवैध लाउडस्पीकरों को हटाने के संबंध में सभी थाना प्रभारियों से रिपोर्ट मांगी है। निर्धारित समय सीमा में रिपोर्ट नहीं देने पर कार्रवाई की जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here