नेपाल: उप राष्ट्रपति चुनाव नहीं लड़ेंगी प्रमिला कुमारी, जानिये, किसका करेंगी समर्थन

इस चुनाव में सत्तारूढ़ गठबंधन से तीन नेताओं ने नामांकन किया है, जबकि अष्टलक्ष्मी शाक्य मुख्य विपक्षी दल सीपीएन (यूएमएल) की उम्मीदवार हैं।

नेपाल के उप राष्ट्रपति चुनाव में सीपीएन (एमसी) के नेतृत्व वाले सत्तारूढ़ गठबंधन की उम्मीदवार प्रमिला कुमारी ने चुनाव मैदान से हटने का ऐलान किया है। प्रमिला कुमारी ने कहा है कि वह इस पद के लिए सत्तारूढ़ गठबंधन के दूसरे उम्मीदवार रामसहाय प्रसाद यादव का समर्थन करेंगी।

17 मार्च को होगा चुनाव
उप राष्ट्रपति चुनाव के लिए नाम वापसी की अंतिम तारीख 12 मार्च के एक दिन बाद प्रमिला कुमारी के चुनाव मैदान से हटने के बाद भी तकनीकी रूप से वह उम्मीदवार बनी रहेंगी। इस चुनाव में सत्तारूढ़ गठबंधन से तीन नेताओं ने नामांकन किया है, जबकि अष्टलक्ष्मी शाक्य मुख्य विपक्षी दल सीपीएन (यूएमएल) की उम्मीदवार हैं। 17 मार्च को होने वाले उप राष्ट्रपति चुनाव के लिए रामसहाय प्रसाद यादव, प्रमिला कुमारी, ममता झा और अष्टलक्ष्मी शाक्य ने नामांकन किया है। इनमें शाक्य को छोड़कर सभी सत्तारूढ़ गठबंधन के उम्मीदवार हैं।

ये भी पढ़ें- उत्तर प्रदेशः मुठभेड़ में 15 हजार का इनामी बदमाश गिरफ्तार! जानिये, कितने मामले हैं दर्ज

प्रमिला कुमारी और रामसहाय यादव दोनों नेता सत्तारूढ़ गठबंधन के घटक दल जनता समाजवादी पार्टी (जेएसपी) के सांसद हैं। प्रमिला कुमारी ने 13 मार्च को एक बयान जारी कर रामसहाय के समर्थन की घोषणा की। नेपाल के चुनाव आयोग के बयान के बाद जेएसपी ने दोनों नेताओं को उम्मीदवार बनाने का फैसला किया था। चुनाव आयोग ने कहा था कि देश के राष्ट्रपति पद पर यदि कोई पुरुष पदारूढ़ है तो उपराष्ट्रपति पद पर किसी महिला को होना चाहिए। इसी बीच रामसहाय की उम्मीदवारी को निरस्त करने की मांग वाली शिकायत को आयोग ने खारिज भी कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here