पति के निधन के गम में नहीं, पड़ोसी से परेशान होकर इस परिवार ने उठाया ऐसा कदम!

44 साल की रेशमा ट्रेंचिल अपने सात साल के बेटे के साथ अंधेरी ईस्ट चांदीवली नहर अमृतशक्ति में ट्यूलिपिया बिल्डिंग की 12वीं मंजिल पर रहती थी। महिला के पति की कुछ महीनों पहले कोरोना से मौत हो गई थी।

मुंबई के अंधेरी पूर्व में रहनेवाले एक परिवार के दो सदस्यों ने 12वीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली। इस परिवार द्वारा आत्महत्या करने का कारण विश्ववसनीय, लेकिन सच है।

हाल ही में इस परिवार के मुखिया की कोरोना से मौत हो गई थी। इस स्थिति में भी परिवार ने आत्महत्या जैसा कदम नहीं उठाया, लेकिन अपनी बिल्डिंग में रहने वाले एक परिवार से परेशान होकर उसने जीवन से हार मान ली और पूरे परिवार ने मौत को गले लगाने का निर्णय ले लिया।

इसलिए बेटे के साथ दे दी जान
इमारत से कूदकर आत्महत्या करने वालों में महिला के साथ ही उसका सात साल का बेटा भी शामिल है। इन्होंने इमारत की 12वीं मंजिल से कूदकर जान दे दी। पुलिस ने इस मामले में एक परिवार के तीन सदस्यों के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया है। आत्महत्या करने वाली महिला का नाम रेशमा ट्रेंचिल था।

स्थानीय लोगों ने बताया यह कारण
स्थानीय लोगों ने रेशमा द्वारा अपने बच्चे के साथ निराशा में आत्महत्या करने की बात बताई थी, क्योंकि उसके पति की कोरोना के कारण मृत्यु हो गई थी। लेकिन पुलिस को उसके घर से मिले एक सुसाइड नोट से पता चला है कि इमारत में नीचे रहने वाले एक परिवार द्वारा परेशान किए जाने के कारण इस परिवार ने आत्महत्या कर ली।

ये भी पढ़ेंः महाराष्ट्रः मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की विदेश में अवैध संपत्ति! इस विधायक ने किया पुख्ता सबूत होने का दावा

पुलिस को मिला सुसाइड नोट
44 साल की रेशमा ट्रेंचिल अपने सात साल के बेटे के साथ अंधेरी ईस्ट चांदीवली नहर अमृतशक्ति में ट्यूलिपिया बिल्डिंग की 12वीं मंजिल पर रहती थी। महिला के पति की कुछ महीनों पहले कोरोना से मौत हो गई थी। पति के निधन से दुखी रेशमा ने फेसबुक पर अपना दुख साझा किया था। इसलिए स्थानीय लोगों का मानना था कि महिला ने अपने पति के गम में बच्चे के साथ ऐसा कदम उठाया। लेकिन जब साकीनाका पुलिस ने रात में उसके घर की तलाशी ली तो उन्हें रेशमा द्वारा आत्महत्या करने से पहले का लिखा हुआ एक नोट मिला।

ये भी पढ़ेंः इन मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं महाराष्ट्र के सरकारी अस्पतालों की नर्सेज!

ऐसा था उत्पीड़न
पत्र में नीचे की मंजिल पर स्थित फ्लैट संख्या 1102 में रहने वाले मोहम्मद अयूब खान, शादाब खान और शहनाज खान द्वारा उसे प्रताड़ित किए जाने का जिक्र था। पत्र के अनुसार खान परिवार लगातार उसके खिलाफ सोसाइटी के साथ-साथ थाने में भी शिकायत कर रहा था कि फ्लैट में लड़का खेलता है तो उसकी आवाज से उसके परिवार की नींद खराब हो जाती है।रेशमा ने पत्र में लिखा है कि वह अपने बच्चे के साथ आत्महत्या कर रही है क्योंकि वह इस उत्पीड़न से तंग आ चुकी है। साकीनाका पुलिस ने फिलहाल इस मामले में मोहम्मद अयूब खान, शादाब खान और शहनाज खान के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here