देखने गए थे चिमनी का उद्घाटन और हो गए हादसे का शिकार

इस साल चिमनी पहली बार फूंकी जा रही थी, इसके चलते वहां ग्रामीणों की भीड़ जुटी थी। इसी दौरान चिमनी टूटकर गिर गई और इसकी चपेट में कई लोग आ गए।

बिहार के पूर्वी चंपारण जिले में रक्सौल अंतर्गत रामगढ़वा थाना क्षेत्र के नारिरगिर चौक के पास शुक्रवार शाम ईंट भट्ठे की चिमनी में ब्लास्ट होने से अब तक नौ लोगों की मौत हो गई, वहीं करीब दो दर्जन लोग घायल हो गए। घायलों में सात लोगों की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। घटना के वक्त करीब 60 लोग मौके पर मौजूद थे। इससे मरने वालों की संख्या में इजाफा हो सकता है। इस दुर्घटना में ईंट-भट्ठे के मालिक मोहम्मद इरशाद की भी मौत हो गई है।

सात लोगों की हालत गंभीर
मिली जानकारी के अनुसार इस साल चिमनी पहली बार फूंकी जा रही थी और इसी दौरान उसमें विस्फोट हो गया। चिमनी में विस्फोट की वजह जरूरत से ज्यादा लकड़ी भड़ना बताया जा रहा है। चिमनी का उद्घाटन था, इसके चलते वहां ग्रामीणों की भीड़ जुटी थी। इसी दौरान चिमनी टूटकर गिर गई और इसकी चपेट में कई लोग आ गए। इस दर्दनाक दुर्घटना में नौ लोगों की मौत हो गई। वहीं, करीब दो दर्जन लोग घायल हो गए। हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस और प्रशासन ने घायलों को रक्सौल के एसआरपी अस्पताल में भर्ती कराया, जिसमें सात लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। अभी भी बचाव और राहत कार्य जारी है।

ये भी पढ़ें- ICICI बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर गिरफ्तार, जानें सीबीआई ने क्यों की कार्रवाई

प्रधानमंत्री मोदी ने की मुआवजे की घोषणा
इस दर्दनाक हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है। पीएमओ ने मोदी के हवाले से ट्वीट किया कि मोतिहारी में एक ईंट भट्ठे में हुए हादसे में लोगों की मौत से मैं आहत हूं। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं। पीएम मोदी ने कहा कि घायलों के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं। प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से मृतक के परिजनों को 2-2 लाख रुपए और घायलों को 50-50 हजार रुपए की सहायता राशि की घोषणा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here