काशी में उत्सव का माहौल, बाबा विश्वनाथ धाम के लोकार्पण की ऐसी है तैयारी

13 दिसंबर को प्रधानमंत्री विश्वनाथ धाम को शिवभक्तों के लिए समर्पित करेंगे। इसके लोकार्पण समारोह को यादगार बनाने के लिए प्रदेश की योगी सरकार जुटी हुई है

सात वार और नौ त्योहार के जीवन दर्शन को मानने वाले पर्व-उत्सवों के रसिया शहर काशी में अब अपने आराध्य काशीपुराधिपति के धाम के विस्तार और सुंदरीकरण को लेकर महापर्व सरीखा उत्साह चहुंओर दिखने लगा है। पूरे शहर में काशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण समारोह की तैयारियों के साथ जगह-जगह चौराहों पर सोशल मीडिया में चर्चा हो रही है। लोगों का कहना है कि भव्य धाम के लोकार्पण के बाद अंतरराष्ट्रीय फलक पर अब काशी की तस्वीर नए कलेवर में दिखेगी।

वाराणसी के सांसद और देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संकल्प को प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मूर्त रूप देने में कोई कसर नही छोड़ा है। रात दिन की उनकी निगरानी और दिशा-निर्देश पर जिला प्रशासन,सहयोगी मंत्रियों ने जिस तेजी से धाम के निर्माण और उसे संवारने का काम किया है, वह सराहना योग्य है।

मेहमानों के स्वागत की तैयारी
धाम के भव्य लोकार्पण के लिए जिला प्रशासन, भाजपा के साथ काशीवासी भी अपने मेहमानों के स्वागत के लिए देवालयों कुंडों, गंगा घाट आदि की सफाई में जुट गए हैं । पूरे शहर को रोशनी से सजाया जा रहा है। धाम के लोकार्पण के बाद काशी विश्वनाथ का प्रसाद घर-घर पहुंचाये जाने के लिए भी प्रशासनिक व्यवस्था हो रही है।

पीएम का ड्रीम प्रोजेक्ट
बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट श्री काशी विश्वनाथ धाम पूर्णता की तरफ अग्रसर है। 13 दिसंबर को प्रधानमंत्री विश्वनाथ धाम को शिवभक्तों के लिए समर्पित करेंगे। इसके लोकार्पण समारोह को यादगार बनाने के लिए प्रदेश की योगी सरकार जुटी हुई है । सरकार की कोशिश है कि बदलती प्राचीन नगरी काशी और भारत की नई तस्वीर पूरी दुनिया देख सके।

सैकड़ों साल बाद जीर्णोद्धार
वाराणसी के कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने कहा कि यह काशी के लिए ऐतिहासिक पल है। सैकड़ों साल बाद श्री काशी विश्वनाथ धाम का जीर्णोद्धार हो रहा है। भव्य लोकार्पण की तैयारी की जा रही है, ताकि देश और विश्व भर के लोग इस पल के साक्षी बनें और अपनी आने वाली पीढ़ियों को श्री काशी विश्वनाथ के जीर्णोद्धार के बारे में बता सकें।

जलाए जाएंगे 11 लाख दीप
उन्होंने बताया कि लोकार्पण समारोह के पूर्व शहर में साफ-सफाई का अभियान चलाया जा रहा है। गंगा के घाटों और कुंडों की सफाई और साज-सज्जा किया जा रहा है। गंगा के दोनों किनारे करीब 11 लाख दीप जलाये जायेंगे। सरकारी भवनों को भी रोशनी से सजाया जा रहा है। मठ और मंदिरों को आकर्षक तरीके से सजाया जा रहा है। भजन संध्या का आयोजन हो रहा है।

लोगों से अपील
लोगों से अपने घरों पर लाइटिंग करने और लोकार्पण के दिन दीपों को जलाने की अपील की गई है। इस प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान वाले भवनों को क्रमशः 51, 21 और 11 हजार रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि हर वार्ड में मंडली ने सुबह कीर्तन भजन शुरू कर दिया है। धाम के लोकार्पण के बाद काशी के हर घर में 13 से 16 दिसम्बर के बीच श्री काशी विश्वनाथ न्यास की तरफ से बाबा का प्रसाद और पुस्तिका भी वितरित की जाएगी।

उत्सव का माहौल
महापौर डॉ मृदुला जायसवाल ने बताया कि प्रधानमंत्री काशी विश्वनाथ धाम का उस दिन लोकार्पण करेंगे। उसे लेकर पूरे काशी में उत्सव का माहौल है। काशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण को लेकर सभी काशी वासी खुश हैं।

ये भी पढ़ेंः सेवाधाम आश्रम में बच्चों को खिलाया जाता है गोमांस! मामला उजागर होने पर मचा हड़कंप

ललिता घाट से दशाश्वमेध घाट तक चली स्वच्छता की बयार
श्री काशी विश्वनाथ धाम लोकार्पण के पूर्व भव्य काशी व दिव्य काशी के संकल्प को साकार करने के लिए नमामि गंगे ने शुक्रवार को ललिता घाट कॉरिडोर परिसर से दशाश्वमेध घाट तक स्वच्छता अभियान चलाया । गंगा किनारे इधर-उधर बिखरा कचरा समेट कर कूड़ेदान तक पहुंचाया । कार्यकर्ताओं ने ललिता घाट सहित अन्य घाटों पर गंगा की तलहटी की भी सफाई की ।

हर-हर महादेव की गूंज
श्रमदान के दौरान सदस्य एवं नागरिक जोश में ” हर-हर महादेव “, आओ घर-घर अलख जगाएं – मां गंगा को निर्मल बनाएं ” का गगनभेदी उदघोष भी करते रहे । नमामि गंगे काशी क्षेत्र के संयोजक राजेश शुक्ला ने इस दौरान कहा कि श्री काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर सहित गंगा घाटों की भव्यता और दिव्यता का साक्षी पूरा विश्व बनेगा। इसलिए स्वच्छता बहुत जरूरी है । प्रधानमंत्री द्वारा दी गई स्वच्छता की प्रेरणा से श्री काशी विश्वनाथ धाम लोकार्पण से पहले ही काशी में स्वच्छता की बयार बह चली है । गंगा घाटों पर भी लोग हर हर महादेव का उद्घोष कर स्वच्छता को आत्मसात कर रहे हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here