झारखंडः रेलवे की तत्परता से फेल हुई ऑक्सीजन रोकने की नक्सलियों की साजिश

झारखंड में नक्सलियों द्वारा बम से उड़ा दी गई पटरी की मरम्मत का कार्य पूरा होने के बाद रेल सेवा फिर से शुरू कर दी गई है।

झारखंड के चक्रधरपुर में नक्सलियों ने रेल की पटरी को उड़ा दिया था, इस वजह से हावड़ा मुंबई रेल मार्ग बुरी तरह प्रभावित हो गया था। इस घटना को अंजाम देने के बाद नक्सलियों ने रेलवे पटरी पर पोस्टर-बैनर छोड़े थे। फिलहाल यहां रेलवे ट्रैक की मरम्मत के बाद फिर से रेल सेवा बहाल कर दी गई है। कहा यह भी जा रहा है कि नक्सलियों ने यह षड्यंत्र ऑक्सीजन की स्पेशल ट्रेन को रोकने के लिए किया था।

यह घटना 25 अप्रैल की रात घटी थी। इसके बाद एक्सप्रेस समेत कई पैसेंजर ट्रेनें तथा मालगाड़ी रोक दी गई थीं।

टल गई बड़ी दुर्घटना
इस घटना में अच्छी बात यह रही कि कोई जनहानि नहीं हुई। अगर सावधानी नहीं बरती जाती थी तो यहां बड़ी दुर्घटना हो सकती थी और बड़ी संख्या में लोगों की जान भी जा सकती थी।

ये भी पढ़ेंः 26 जनवरी दिल्ली हिंसाः दीप सिद्धू को दूसरे मामले में भी जमानत!

ये है पूरी जानकारी
मिली जानकारी के मुताबिक 25 अप्रैल की रात एक रेल चालक को जोरदार धमाके की आवाज सुनाई दी। इसके बाद चालक ने इसकी जानकारी चक्रधरपुर रेल मंडल को दी। रात में जांच के बाद पता चला कि अप लाइन रेलवे ट्रैक को लोटापहाड़ और सोनुआ स्टेशन के बीच नक्सलियों ने बम से उड़ा दिया है।

ये भी पढ़ेंः महाराष्ट्रः 18 वर्ष से ऊपर वालों को मुफ्त टीका!

निशाने पर था आजाद हिंद एक्सप्रेस
बताया जा रहा है कि नक्सलियों ने आजाद हिंद एक्सप्रेस को निशाना बनाकर इस वारदात को अंजाम दिया था। कहा यह भी जा रहा है कि नक्सलियों ने यह षड्यंत्र ऑक्सीजन की स्पेशल ट्रेन को रोकने के लिए किया था। लेकिन वे अपने मंसूबे में सफल नहीं हो सके।

बौखला गए हैं नक्सली
बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार द्वारा नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन खात्मा चलाए जाने के बाद वे बौखला गए हैं। इसलिए वे इस तरह की घटनाओं को अंजाम देकर अपनी ताकत का प्रदर्शन कर रहे हैं। फिलहाल पुलिस अधिकारी और संबंधित विभाग उनकी गतिविधियों पर नजर बनाए हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here