2023 तक बेस्ट की आधी बसें होंगी इलेक्ट्रिक आधारित! जानिये, बीएमसी की क्या है योजना

मुंबई महानगरपालिका प्रशासन ने तीन नई पहल की है। ये योजनाएं राज्य पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन विभाग के मार्गदर्शन में पूरी की जाएंगी।

महाराष्ट्र सरकार द्वारा हाल ही में घोषित इलेक्ट्रिक वाहन नीति के अनुरूप बेस्ट ने पहल शुरू कर दी है। अब उसके बेड़े में  बड़े पैमाने पर इलेक्ट्रिक वाहन शामिल किए जाएंगे। शहर में इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने के लिए करीब 55 जगहों का चयन किया गया है। अगले 3 से 4 महीनों में निजी-सार्वजनिक भागीदारी चार्जिंग स्टेशन स्थापित किए जाएंगे। बेस्ट के महाप्रबंधक लोकेश चंद्र ने बताया कि इन केंद्रों पर आम जनता भी चार्ज कर सकेगी।

बेस्ट सेवा उपलब्ध कराने की कोशिश
मुंबई महानगरपालिका प्रशासन ने तीन नई पहल की है। ये योजनाएं राज्य पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन विभाग के मार्गदर्शन में पूरी की जाएंगी। इन तीन पहलों में वुमन फॉर क्लाइमेट, सिटीज फॉर फॉरेस्ट कैंपेन और ई-बस मिशन शामिल हैं। लोकेश चंद्र ने बताया कि बेस्ट के माध्यम से लोगों को स्थायी, किफायती, उत्कृष्ट और कनेक्टिंग तरीके से सार्वजनिक परिवहन सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए आमूलचूल परिवर्तन किए जा रहे हैं।

2023 तक 50 प्रतिशत इलेक्ट्रिक वाहन
मुंबई मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध निजी क्षेत्र के संगठनों के साथ इसके लिए समझौता किया जाएगा। इससे हमारा अनुभव बढ़ेगा और हम ज्यादा बेहतर सेवा उपलब्ध कराने में सक्षम होंगे। उन्होंने कहा कि सरकार ने 2025 तक 15% सार्वजनिक परिवहन को इलेक्ट्रिक वाहनों पर आधारित बनाने का लक्ष्य रखा है। इससे आगे बढ़ते हुए बीएमसी ने 2023 तक 50% सार्वजनिक परिवहन को इलेक्ट्रिक वाहनों पर आधारित बनाने का लक्ष्य रखा है।

सही दिशा में बढ़ रही है मनपा
मनपा आयुक्त ने बताया कि लोगों की प्रत्यक्ष भागीदारी को बढ़ाने के लिए जलवायु परिवर्तन और पर्यावरण संरक्षण के बारे में जागरूकता पैदा करने हेतु की गई पहल महत्वपूर्ण है। चहल ने यह भी दावा किया कि मुंबई मनपा प्रशासन पर्यावरण संरक्षण के लिए सही दिशा में आगे बढ़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here