कोरोना के नए वेरिएंट से निपटने को तैयार भारत

चीन में कोरोना का कहर लगातार जारी है। ऐसे में कोविड का प्रसार भारत में न होने पाए इसको लेकर केन्द्र सरकार अलर्ट मोड में है।

कोरोना का नया वेरिएंट पीएफ.7 से निपटने के लिए भारत कितना तैयार है, इसको लेकर देश भर के अस्पतालों में मॉक ड्रिल आयोजित की गई। इसका मकसद कोविड तैयारियों को जांचना और किसी भी आपात स्थिति के लिए तैयार रहना है।
केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया तैयारियों का जायजा लेने के लिए सफदरजंग अस्पताल का दौरा किया। इस दौरान मांडविया ने मीडिया से बातचीत में कहा कि केन्द्र सरकार कोविड से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। इसकी तैयारियों का जायजा लेने के लिए देशभर के कई अस्पतालों में 27 दिसंबर को मॉक ड्रिल का आयोजन किया गया। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने स्वयं यहां सफदरजंग अस्पताल में कोविड-19 पर आयोजित मॉक ड्रिल का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि अस्पताल की कोविड को लेकर पूरी व्यवस्थित है। ऐसी ही व्यवस्था दूसरे अस्पतालों में भी होनी चाहिए। अगर देश में कोरोना के मामले बढ़े तो हमारे अस्पतालों को पूरी तरह तैयार होना चाहिए।

यह भी पढ़ें – आप की उम्मीदों पर भाजपा ने फेरा पानी, दिल्ली मेयर चुनाव में उतारा उम्मीदवार

अलर्ट मोड पर केंद्र सरकार
उल्लेखनीय है कि चीन में कोरोना का कहर लगातार जारी है। ऐसे में कोविड का प्रसार भारत में न होने पाए इसको लेकर केन्द्र सरकार अलर्ट मोड में है। केन्द्र ने राज्यों को भी मुस्तैद रहने की सलाह दी है। बीते 24 घंटे में देशभर में कोरोना के 157 नये मामले सामने आए हैं। इसी क्रम में दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया मॉक ड्रिल के दौरान लोक नायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल पहुंचे। यहां उन्होंने आपात स्थिति से जुड़ी तैयारियों की समीक्षा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here