समृद्धि महामार्ग का प्रधानमंत्री करेंगे उद्घाटन! जानिये, कैसी है तैयारी

नागपुर-मुंबई रैपिड ट्रांजिट एक्सप्रेसवे को एक महत्वपूर्ण परियोजना के रूप में अधिसूचित किया गया है।

महाराष्ट्र के समृद्धि की भाग्य रेखा माने जाने वाले “हिंदूहृदयसम्राट बालासाहेब ठाकरे महाराष्ट्र समृद्धि महामार्ग” का रविवार, 11 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उद्घाटन करेंगे। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने शुक्रवार को इस समारोह की तैयारियों की समीक्षा की। नागपुर आ रहे प्रधानमंत्री मोदी मेट्रो ट्रेन से यात्रा करेंगे और समृद्धि महामार्ग से भी यात्रा करेंगे। उद्घाटन समारोह में कई कार्यक्रम होंगे जिनमें प्रधानमंत्री शामिल होंगे।

प्रधानमंत्री सुबह करीब साढ़े नौ बजे नागपुर एयरपोर्ट पहुंचेंगे। इसके बाद खापरी मेट्रो स्टेशन, नागपुर फेज 1 का उद्घाटन, वंदे मातरम ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे और मिहान एम्स का लोकार्पण करेंगे। इसके बाद वायफल टोल प्लाजा से समृद्धि महामार्ग मार्ग का लोकार्पण होगा। इस दौरान प्रधानमंत्री नागपुर मेट्रो से यात्रा भी करेंगे और जीरो माइल्स से वायफल टोल प्लाजा तक जाएंगे। टेंपल मैदान में प्रधानमंत्री की सभा होगी। इस अवसर पर महाराष्ट्र के राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी, मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, अश्विनी वैष्णव, हरदीप पुरी, राज्य के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, केंद्रीय राज्यमंत्री भारती पवार, रावसाहेब दानवे और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहेंगे।

मुख्यमंत्री ने अपने सरकारी आवास वर्षा बंगले पर आयोजित बैठक में समृद्धि महामार्ग के लोकार्पण समारोह की तैयारियों का जायजा लिया। मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि हिंदूहृदयसम्राट बालासाहेब ठाकरे समृद्धि महामार्ग राज्य सरकार द्वारा निर्मित देश का सबसे लंबा एक्सप्रेस वे है। यह महाराष्ट्र की समृद्धि की भाग्य रेखा होगा और यह महामार्ग राज्य के समग्र विकास में एक गेम चेंजर होगा। मुख्यमंत्री ने विदर्भ, मराठवाड़ा क्षेत्र को औद्योगिक क्रांतिकारी बताते हुए कहा कि यह लोकार्पण समारोह प्रधानमंत्री मोदी की उपस्थिति में हो रहा है और यह हमारे राज्य के लिए बहुत खुशी का क्षण है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि यह सुनिश्चित किया जाए कि इस समारोह में शामिल होने वाले लोगों को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो।

नागपुर-मुंबई रैपिड ट्रांजिट एक्सप्रेसवे को एक महत्वपूर्ण परियोजना के रूप में अधिसूचित किया गया है। इस महामार्ग को दिनांक 22 दिसंबर 2019 के सरकारी निर्णयानुसार “हिंदूहृदयसम्राट बालासाहेब ठाकरे महाराष्ट्र समृद्धि महामार्ग” नाम दिया गया है। वर्तमान में परियोजना के लिए आवश्यक 8861.02 हेक्टेयर भूमि (सड़क की चौड़ाई इंटरचेंज) का अधिग्रहण किया जा चुका है। वर्तमान में 1 से 11 (शिर्डी तक) पैकेज का कार्य पूर्ण हो चुका है। पहले चरण के रूप में नागपुर से शिर्डी तक 701 किमी में से 520 किमी सड़क यातायात के लिए तैयार हैं। उसका लोकार्पण किया जा रहा है। शेष महामार्ग को जुलाई 2023 तक यातायात के लिए खोलने की योजना है।

बैठक में मुख्य सचिव मनुकुमार श्रीवास्तव, वित्त विभाग के अपर मुख्य सचिव मनोज सौनिक, राज शिष्टाचार विभाग की प्रधान सचिव मनीषा म्हैसकर उपस्थित थीं। इसके अलावा नागपुर विभागीय आयुक्त विजयालक्ष्मी प्रसन्ना बिदरी, महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास महामंडल के प्रबंध निदेशक राधेश्याम मोपरवार, नागपुर के जिलाधिकारी विपिन इटनकर, पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार, महामेट्रो के बृजेश दीक्षित आदि ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here