महाराष्ट्रः लड़कियों के धर्मांतरण का सामने आया रेट कार्ड, विधान सभा में विधायक नितेश राणे ने‌ उठाया मुद्दा, की ये मांग

अहमदनार में एक नाबालिग लड़की को प्रताड़ित कर जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया। इसी पृष्ठभूमि में नितेश राणे ने धर्म परिवर्तन का मुद्दा विधानसभा में उठाया।

महाराष्ट्र में भाजपा विधायक नितेश राणे ने हिंदू लड़कियों का धर्म परिवर्तन कराने के लिए मुस्लिम युवाओं को आर्थिक मदद दिये जाने का दावा किया है। उन्होंने विधान सभा में इसके लिए रेट कार्ड जारी किये जाने का आरोप लगाया।

अहमदनार में एक नाबालिग लड़की को प्रताड़ित कर जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया। इसी पृष्ठभूमि में नितेश राणे ने धर्म परिवर्तन का मुद्दा विधानसभा में उठाया। इसका जवाब देते हुए उपमुख्यमंत्री और गृह मंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बताया कि मामले से जुड़े अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

क्या कहा नितेश राणे ने-
नितेश राणे ने कहा,“यह महाराष्ट्र के लिए एक बहुत ही गंभीर मुद्दा है। अहमदनगर के श्रीरामपुर में धर्म परिवर्तन के नाम पर एक नाबालिग लड़की को बरगलाया गया है। एक लड़की के साथ अन्याय और अत्याचार किया गया। अपराध दर्ज होने के तुरंत बाद आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया। संबंधित पुलिस अधिकारी ने आरोपी को स्थानीय जेल में बंद कर दिया है। उस सेंट्रल जेल नहीं भेजा गया। ”

राणे ने आगे कहा,“सानप नाम के एक अधिकारी के आरोपी के साथ वित्तीय लेन-देन की बात की जा रही है। आरोपी को घर का खाना दिया जा रहा है और अन्य मदद भी की जा रही है। यह महाराष्ट्र के लिए गंभीर मामला है। नितेश राणे ने आरोप लगाया कि महाराष्ट्र के कई स्थानों पर धर्म परिवर्तन के नाम पर नाबालिग लड़कियों को बरगलाया जा रहा है और ऐसा करने वाले युवको को पैसे सहित हर तरह की मदद की जा रही है।”

यह है रेट कार्ड
उन्होंने आगे कहा, ‘हिंदू लड़कियों को धर्मांतरण के लिए पैसे दिए जाते हैं, बाइक दी जाती है। धर्मांतरण को बढ़ावा देने के लिए आर्थिक मदद दी जा रही है। रेट कार्ड बन चुका है। सिख लड़की को धर्मांतरण कराने के लिए 7 लाख, पंजाबी हिंदू लड़की के लिए 6 लाख, गुजराती ब्राह्मण लड़की के लिए 6 लाख, ब्राह्मण लड़की के लिए 5 लाख, क्षत्रिय लड़की के लिए 4 लाख का रेट कार्ड है। धर्म परिवर्तन के नाम पर लड़कियों की जिंदगी बर्बाद की जा रही है।”

इस समय नितेश राणे ने मांग की कि जिस अधिकारी के आरोपी से संबंध थे, उसे बर्खास्त किया जाए। महाराष्ट्र में इस तरह की घटनाएं बढ़ रही हैं। राणे ने कहा कि महाराष्ट्र में उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, गुजरात जैसे धर्मांतरण विरोधी कानून लागू किया जाना चाहिए।

उपमुख्यमंत्री फडणवीस का जवाब-
नितेश राणे के सवाल पर फडणवीस ने जवाब दिया, “नीतेश राणे द्वारा उठाया गया मुद्दा बहुत गंभीर है। आरोपी इमरान युसूफ कुरैशी ने नाबालिग होने पर भी पीड़िता के साथ तीन साल तक दुष्कर्म किया। इस संबंध में बार-बार शिकायत करने के बावजूद पुलिस अधिकारी सानप ने कोई कार्रवाई नहीं की। उसे निलंबित किया गया है। तुरंत बर्खास्त नहीं किया जा सकता, उसके लिए एक प्रक्रिया है। लेकिन उसे कड़ी सजा दी जाएगी। यदि यह पाया जाता है कि उसका आरोपी के साथ संबंध था तो उस पर आपराधिक मुकदमा भी चलाया जाएगा।”

फडणवीस ने आगे कहा, “आरोपी के खिलाफ कई मामले दर्ज हैं, इस बारे में जानकारी निकाली जाएगी और दोषी पाए जाने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। महाराष्ट्र में पहले से ही धर्मांतरण कानून है, कानून में कड़े प्रावधान हैं। कोई भी किसी को लालच देकर या जबरदस्ती धर्मांतरण नहीं करा सकता।” उन्होंने कहा, “अगर कानून के प्रावधानों में खामियां हैं, तो उन्हें और सख्त बनाने का प्रयास किया जाएगा।” .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here