पुणेः सेल्फी लेने के चक्कर में फिसला बच्चे का पैर और फिर हुआ ऐसा!

पुणे के मावल परिसर में एक हादसे में दो लोगों ने अपनी जान गंवा दी है, जबकि एक बच्चे की जान स्थानीय लोगों ने बचा ली है। ये तीनों एक ही परिवार के थे।

पुणे के मावल परिसर में मौज-मस्ती के लिए आए एक बच्चा और उसके पिता तथा मामा सेल्फी के चक्कर में पानी में बह गए। ये मावल परिसर में कुंड मला झरना देखने आए थे। सेल्फी लेने के चक्कर में मामा भांजे का पैर फिसल गया और वे पानी में जा गिरे। उन्हें बचाने के लिए पिता ने छलांग लगा दी लेकिन पानी का बहाव ज्यादा होने के कारण तीनों बह गए। इस घटना में बच्चे के पिता और मामा की मौत हो गई, जबकि 10 साल के बच्चे को स्थानीय लोगों ने बचा लिया। बचाए गए बच्चे का नाम आरुष नारावडे है, जबकि मृतकों के नाम विष्णु भोसले और राकेश नरावडे है।

आरुष और विष्णु भोसले दोनों सेल्फी लेने के चक्कर के पानी में गिर गए। उन्हें बचाने के लिए आरुष के पिता राकेश नरावडे ने पानी में छलांग लगा दी। इस घटना में स्थानीय नागरिकों ने आरुष को तो बचा लिया। लेकिन अन्य दो लोग पानी में बह गए।

पिता तथा मामा के शव बरामद
घटना की जानकारी स्थानीय पुलिस को दी गई। पुलिस और बचाव दल ने सर्च ऑपरेशन चलाकर पहले विष्णु भोसले और घंटों बाद राकेश का शव झरने से बाहर निकाला। बच्चे के सेल्फी लेने के चक्कर में मामा और पिता को अपनी जान गंवानी पड़ी।

स्थानीय नागरिक ने दी जानकारी
इस बारे में जानकारी देते हुए एक स्थानीय निवासी ने कहा, ‘हमें जैसे ही पता चला कि पैर फिसलने से तीन लोग पानी में गिर गए हैं, मैं और एक अन्य युवक ने तुरंत पानी में छलांग लगा दी। हमने अपनी जान जोखिम में डालकर एक बच्चे को जिन्दा बचा लिया। हमने अन्य दोनों को भी बचाने का प्रयास किया, मगर पानी का बहाव तेज था, वे दोनों बह गए। सर्च ऑपरेशन के दौरान उनके शव बाहर निकाले गए हैं।’

पर्यटन स्थलों पर आने की मनाही
पुणे और इसके आसपास लोनावला व खंडाला जैसे पर्यटन स्थलों पर सैलनियो के आने-जाने पर पाबंदी होने के बावजूद लोग इन पर्यटन स्थलों पर अनधिकृत रुप से पहुंच जाते हैं और ऐसी घटनाओं के शिकार हो जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here