आखिर मनसे ने फोड़ी दही हांडी ! कहां और कैसे?

30 अगस्त को मनसे ठाणे जिला अध्यक्ष अविनाश जाधव ठाणे में दही हांडी मनाने के लिए एक बड़ा मंच तैयार कर रहे थे, लेकिन पुलिस मौके पर पहुंची और अविनाश जाधव तथा उनके कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया।

राज्य सरकार ने कोरोना की तीसरी लहर का हवाला देते हुए लगातार तीसरे साल दही हांडी पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसे लेकर भारतीय जनता पार्टी और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना पहले से ही आक्रामक हैं। उन्होंने प्रतिबंध के बावजूद दही हांडी का त्योहार मनाने की घोषणा की है। इस पृष्ठभूमि में, पुलिस ने महाराष्ट्र के मनसे नेताओं को नोटिस जारी किया है, लेकिन मनसे नेताओं ने आखिरकार दही हांडी का त्योहार मनाया।

ठाणे में भी फोड़ी गई दही हांडी
बता दें कि 30 अगस्त को मनसे ठाणे जिला अध्यक्ष अविनाश जाधव ठाणे में दही हांडी मनाने के लिए एक बड़ा मंच तैयार कर रहे थे, लेकिन पुलिस मौके पर पहुंची और अविनाश जाधव तथा उनके कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया। उसके बाद पुलिस ने मनसे नेताओं को नोटिस भेजना शुरू कर दिया। ऐसे में सवाल उठा कि मनसे आगे क्या करेगी। आखिरकार 30 अगस्त की देर रात मनसे ने दही हांडी तोड़कर अपना वादा पूरा किया।

ये भी पढ़ेंः महाराष्ट्र में मंदिर पर सरकार और विपक्ष में इस तरह बढ़ रहा है ‘रार’ !

ठाणे में दही हांडी फोड़कर प्रदर्शन
इस दौरान महिला कार्यकर्ताओं ने ठाणे में पार्टी कार्यालय के सामने और वर्तक नगर में मनसे विद्यार्थी सेना ने दही हांडी फोड़ी। मुंबई के वर्ली नाका और घाटकोपर स्थित भटवाड़ी, मानखुर्द, मुलुंड और नासिक में भी मनसे ने भी दही हांडी फोड़कर राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।

आज पूरे दिन क्या होगा?
इस बीच यह सवाल उठ रहा है कि क्या मनसे और भाजपा 31 अगस्त को राज्य में बड़े पैमाने पर दही हांडी मनाने की कोशिश करेगी। बता दें कि भाजपा विधायक राम कदम ने भी दही हांडी मनाने की घोषणा की है। ऐसे में 31 अगस्त को दिन भर प्रशासन और भाजपा-मनसे के बीच टकराव जारी रहने की उम्मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here