महाराष्ट्र में 53 ईसाई हिंदू बने, ‘इतने’ और लोग धर्म परिवर्तन के लिए तैयार

जालना जिले के मंथा के 12 परिवारों के 53 ईसाई पुरुष- महिलाओं ने हिंदू धर्म अपनाने की इच्छा व्यक्त की थी। उनके इस तरह के अनुरोध के बाद पैठण की ब्राह्मण सभा की ओर से पहल की गई।

औरंगाबाद के पैठण में एकनाथ महाराज मंदिर में 12 परिवारों के धर्म परिवर्तन के लिए एक समारोह आयोजित किया गया। 53 लोगों ने ईसाई धर्म छोड़कर हिंदू धर्म को अपना लिया। इसके लिए ब्राह्मण सभा की पहल के बाद धर्मजागरण विभाग और नाथ के वंशजों की उपस्थिति में यह समारोह आयोजित किया गया। समारोह में 53 पुरुष और महिलाएं स्वेच्छा से हिंदू धर्म में परिवर्तित हो गए।

अन्य 22 ईसाई परिवार भी बनेंगे हिंदू
पैठण के एकनाथ महाराज मंदिर में, जालना जिले के मंथा के 12 परिवारों के 53 पुरुषों और महिलाओं ने 25 दिसंबर को ईसाई धर्म त्याग दिया और हिंदू धर्म को स्वीकार कर लिया। संत एकनाथ महाराज के वंशजों के साथ, पैठण केवेदों के जानकार भी इस अवसर पर उपस्थित थे। मंथा तालुका में 22 अन्य ईसाई परिवारों के लगभग 65 पुरुष- महिलाओं ने भी ईसाई धर्म त्यागने की इच्छा व्यक्त की है। बताया जा रहा है कि अगला धर्मांतरण समारोह 5 जनवरी को पैठण के नाथ मंदिर में आयोजित किया जाएगा।

ये भी पढ़ेंः आरएसएस कार्यालय पर हमलावरों के खिलाफ कार्रवाई तेज, लगाया जाएगा यह एक्ट

ब्राह्मण सभा की  पहल
प्राप्त जानकारी के अनुसार जालना जिले के मंथा के 12 परिवारों के 53 ईसाई पुरुष- महिलाओं ने हिंदू धर्म अपनाने की इच्छा व्यक्त की थी। उनके इस तरह के अनुरोध किए जाने के बाद पैठण की ब्राह्मण सभा की ओर से पहल की गई। धार्मिक अनुष्ठान की योजना बनाई गई और फिर एकनाथ मंदिर में शांतिब्रह्म एकनाथ महाराज की समाधि के सामने उनका धर्मातंरण कराया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here