लवजिहादः 12वीं पास लड़की, 10वीं फेल लड़का और फिर हुआ ऐसा!

लड़की नांदेड़ के हनेगांव के एक बड़े कपड़ा व्यापारी की बेटी है, जबकि मुस्लिम लड़के का पिता इस व्यापारी की जमीन पर खेती करता है। लड़की 12वीं पास है, जबकि लड़का 10वीं में फेल है।

देश के कई राज्यों में लवजिहाद के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इन राज्यों में केरल, तमिलनाडु और तेलंगाना विशेष रुप से शामिल हैं। लेकिन अब महाराष्ट्र में भी इस तरह के मामलों में वृद्धि हो रही है। पिछले कुछ माह में महाराष्ट्र में ऐसे कई मामले देखने को मिले हैं। इसी कड़ी में नांदेड़ की एक 19 वर्षीय हिंदू लड़की इशाद मोइनुद्दीन अत्तार नाम के एक कट्टर मुस्लिम युवक के साथ घर से भाग गई है। वह अपने साथ 72 लाख रुपए के सोने के गहनों के साथ ही 25 लाख रुपये नकद लेकर युवक के साथ फरार हो गई।

अमीर परिवार की बेटी, गरीब परिवार का मुस्लिम लड़का
लड़की नांदेड़ के हनेगांव के एक बड़े कपड़ा व्यापारी की बेटी है, जबकि मुस्लिम लड़के का पिता इस व्यापारी की जमीन पर खेती करता है। लड़की 12वीं पास है, जबकि लड़का 10वीं में फेल है। लड़की के पिता ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। शुरू में पुलिस ने मामला दर्ज करने से इनकार कर दिया था, लेकिन न्यायालय के आदेश के बाद मरखेल पुलिस ने मामला दर्ज किया है।

लड़की के पिता के आरोप
लड़की के पिता के अनुसार, मोइनुद्दीन अत्तार के बेटे ने उनकी बेटी के साथ दोस्ती की। उसके बाद वह उसे बहकाकर भगा ले गया। उसने लड़की को पैसे और गहने लेकर भागने के लिए उकसाया।

ये भी पढ़ेंः अब अनिल परब हाजिर हों… इस प्रकरण में होगी सुनवाई

 लड़की का कराया धर्म परिवर्तन
लड़की के परिवार ने यह भी आरोप लगाया है कि कट्टरपंथी मुस्लिम लड़के ने लड़की का हैदराबाद में धर्म परिवर्तन करा दिया है। इस मामले में नांदेड़ पुलिस ने छापेमारी कर लड़के के कुछ रिश्तेदारों को गिरफ्तार किया है। इस घटना के चलते हनेगांव में काफी तनाव है, जिसे देखते हुए वहां सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है।

लड़की कहती है, उसने अपनी मर्जी से बदला धर्म 
इस बीच, लड़की का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें उसने सभी आरोपों से इनकार किया है। वीडियो में वह कह रही है, ‘मैं अपने गांव के युवक इशाद मोइनोद्दीन अत्तार से प्यार करती हूं। मेरा परिवार इसे पिछले पांच सालों से जानता है। लेकिन जब वे हमारी शादी से इंकार कर रहे थे तो हमने हैदराबाद आकर शादी करने का फैसला किया। मैं एक मार्च को यहां आई थी। मैंने उसी दिन स्वेच्छा से इस्लाम धर्म अपना लिया। अगले दिन हम दोनों ने शादी कर ली।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here