महाराष्ट्र अब ऐसे पूरा करेगा दिल्ली में दूध की कमी!

महाराष्ट्र के नागपुर से दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन स्टेशन तक 45,000 लीटर दूध लेकर ट्रेन रवाना हुई। महाराष्ट्र से दिल्ली के लिए शुरू की गई यह पहली मिल्क ट्रेन है।

कोरोना संक्रमण से तबाही के बीच देश में नए-नए प्रयोग भी किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में महाराष्ट्र के नागपुर से दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन स्टेशन तक 45,000 लीटर दूध लेकर  मिल्क ट्रेन रवाना हुई। महाराष्ट्र से दिल्ली के लिए शुरू की गई यह पहली मिल्क ट्रेन है। लॉकडाउन के दौरान दिल्ली मे दूध की मांग को पूरा करने के लिए यह मिल्क ट्रेन चलाई गई है।

नागपुर सहायक वाणिज्यिक प्रबंधक (एसीएम) एसजी राव ने इस बारे में जानाकरी देते हुए कहा कि कोरोना काल में दूध का उत्पादन कम होने से दिल्ली में दूध की कमी महसूस की जा रही है। उन्होंने बताया कि इसका दूसरा कारण यह भी है कि कोरोना  में दिल्ली समेत कई शहरों में दूध की मांग बढ़ गई है। यह मिल्क ट्रेन उसी कमी को पूरा करने के लिए चलाई गई है।

ये भी पढ़ेंः वो परमाणु संयंत्रों का सामान बेचने निकले थे, मुंबई में यूरेनियम की बड़ी खेप बरामद

व्यापारिक दृष्टिकोण से भी उत्तम
राव ने कहा कि महाराष्ट्र में बड़े पैमाने पर दूध का उत्पादन होता है। इस हाल में व्यापार की दृष्टि से भी इस तरह का प्रयोग भविष्य में काफी उपयोगी सबित हो सकता है।

आंध्र प्रदेश से भी चलाई जा रही हैं दुरंतो ट्रेनें
बता दें कि दिल्ली में दूध की कमी को पूरा करने के लिए आंध्र प्रदेश से दुरंतो ट्रेनें भी चलाई गई हैं। इनमें दूध से भरे छह टैंकर मदर डेयरी ने दूध मंगाता है। इन टैंकरों में करीब ढाई लाख लीटर गाय का दूध रहता है। दूध के छह टैंकरों को जोड़कर इसे रेलगाड़ी का रुप दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here