मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने किया तीसरे कलवा खाड़ी पुल का उद्घाटन, ‘इन’ इलाके के लोगों को होगा लाभ

ठाणे शहर से कलवा को जोड़ने वाले तीसरे कलवा खाड़ी पुल का उद्घाटन 13 नवंबर को मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने किया। ठाणे पुलिस आयुक्त कार्यालय के निकट बेलापुर रोड पर तीसरे सड़क मार्ग खाड़ी पुल की काफी समय से तैयारियां चल रही थीं। 13 नवंबर की शाम इस पुल का शुंभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि ठाणे के लोगों को आंतरिक ट्रैफिक जाम से निजात दिलाने के लिए विभिन्न प्रोजेक्ट चलाए जा रहे हैं। इसमें बाइपास, ईस्टर्न फ्रीवे का विस्तार भी शामिल है। इसके लिए अब एमएमआरडीए और ठाणे नगर निगम इसके लिए काम कर रहे हैं।

कलवा खाड़ी पर बने तीसरे पुल की एक लेन का उद्घाटन मुख्यमंत्री ने रविवार शाम किया। इस अवसर पर सांसद श्रीकांत शिंदे, विधायक जितेंद्र आव्हाड पूर्व विधायक रवींद्र पाठक, पूर्व महापौर नरेश म्हस्के, मीनाक्षी शिंदे, पूर्व उपमहापौर पल्लवी कदम, गोपाल लांडगे, सुधीर कोकाटे, ठाणे मनपा आयुक्त अभिजीत बांगड़, कलेक्टर अशोक शिंगारे, आदि मौजूद थे ।

मुख्यमंत्री ने तीसरे खाड़ी पुल के उद्घाटन मौके पर कहा कि सरकार का इरादा इस पुल को पाटनी तक बढ़ाने का है। मुख्यमंत्री ने कहा कि तीन हाथ नाका, माझीवाड़ा जंक्शन पर भी जल्द काम शुरू होगा। समर्पण समारोह के बाद, सभी गणमान्य लोगों ने तीसरे कलवा खाड़ी पुल पर यात्रा की और मार्ग को तुरंत जनता के लिए खोल दिया गया।

उल्लेखनीय है कि ठाणे शहर और कलवा को जोड़ने और ठाणे-बेलापुर से ठाणे-बेलापुर होते हुए नवी मुंबई तक पहुंचने के लिए कलवा खाड़ी पर एक नए पुल का निर्माण किया गया है। इस पुल का 93% काम पूरा हो चुका है। हालांकि इस क्षेत्र में जाम को दूर करने के लिए पुलिस आयुक्त कार्यालय से कलवा चौक-बेलापुर मार्ग को यातायात के लिए खोला जा रहा है।

कलवा खाड़ी पर कुल तीन सड़क पुल हैं। पहला पुल ब्रिटिश काल का है और 1863 में बनाया गया था। 2010 में इस पर भारी वाहनों का आवागमन बंद कर दिया गया था। अगस्त 2016 में पुल को वाहनों के लिए बंद कर दिया गया था। जबकि दूसरा कलवा सड़क खाड़ी पुल 1995-96 के दौरान बनाया गया था। अभी तक सारा ट्रैफिक इसी से होकर गुजर रहा था। शहर के बढ़ते विस्तार के कारण दोनों ओर के चौराहों पर ट्रैफिक जाम हो रहा था। इसलिए यह तीसरा पुल सन 2013 में प्रस्तावित किया गया था। इस नए पांच लेन वाले पुल की लंबाई 2 . 20 किमी है ,पुल की कुल परियोजना लागत 183 . 66 करोड़ है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here