पुणेः कोरोना मरीज ने अस्पताल के आईसीयू में की आत्महत्या, परिजनों ने लगाया ये आरोप

महाराष्ट्र के पुणे में एक दिल दहला देने वाली घटना घटी है। यहां एक मरीज ने अस्पताल में आत्महत्या कर ली है।

महाराष्ट्र के पुणे से सटे तलेगांव मावल इलाके में एमआईएमईआर अस्पताल में भर्ती 44 वर्षीय मरीज ने आत्महत्या कर ली है। मरीज ने अस्पताल के आईसीयू में छत्त से फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। उसे कोरोना संक्रमित हो जाने पर हाल ही में उसके परिजनों ने अस्पताल में भर्ती कराया था।

घटना की जानकारी मिलते ही तलेगांव पुलिस घटनास्थल पर दाखिल हो गई। फिलहाल वह इसे आत्महत्या का मामला दर्ज कर आगे जांच कर रही है।

परिजनों का आरोप
मृतक के परिजनों ने मरीज की आत्महत्या के लिए अस्पताल प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने पुलिस से अस्पताल पर हत्या का केस दर्ज कर मामले की जांच कराने की मांग की है।

ये भी पढ़ेंः वर्दी में देवदूत! झारखंड में सीआईएसएफ के जवान ऐसे बचा रहे हैं कोरोना मरीजों की जान

एक दिन पहले घटी थी ऐसी घटना
इससे एक दिन पहले भी इसी अस्पताल में एक मरीज का बाकी बिल नहीं चुकाने के कारण  उसका शव 3 दिनों तक डेड हाउस में छिपा कर रखने का मामला उजागर हुआ था। मृतक के परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस ने अस्पताल प्रशासन के खिलाफ मामला दर्ज किया है। यह मामला ठंडा भी नहीं हुआ है कि अब दूसरी बड़ी घटना सामने आ गई है। इस कारण जहां अस्पताल प्रशासन पर सवाल उठने लगे हैं, वहीं मरीजों में भी डर का माहौल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here