कुछ घंटों में ऑक्सीजन नहीं मिली तो दर्जनों मरीजों की रुक सकती हैं सांसें!

ऑक्सीजन को लेकर देश के कई अस्पतालों में छोटी-बड़ी झड़पें होने की खबरें आ रही हैं। इस बीच देश की राजधानी दिल्ली के साथ ही उत्तर प्रदेश और हरियाणा तथा महाराष्ट्र में भी ऑक्सीजन की भारी किल्लत है।

कोराना महामारी में ऑक्सीजन को लेकर देश के कई राज्यों में मारामारी हो रही है। भोपाल के दामोह में जहां अस्पताल पहुंचते ही मरीजों के परिजनों ने ऑक्सीजन सिलेंडर लूट लिए, वहीं महाराष्ट्र के नासिक के जाकिर हुसैन अस्पताल में ऑक्सीजन टैंक लीक हो जाने के कारण 22 लोगों की जान चली गई। इसके साथ ही ऑक्सीजन को लेकर देश के कई अस्पतालों में छोटी-बड़ी झड़पें होने की खबरें आ रही हैं। इस बीच देश की राजधानी दिल्ली के साथ ही उत्तर प्रदेश और हरियाणा तथा महाराष्ट्र में भी ऑक्सीजन की भारी किल्लत है।

दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन का इंतजार
दिल्ली के कई अस्पतालों से जो खबरें आ रही हैं, वह काफी भयावह है। वहां के सेंट स्टीफंस अस्पताल ने बयान जारी कर बताया है कि अस्पताल में मात्र कुछ घंटे की ऑक्सीजन बची है, वहीं गंगाराम अस्पताल में पांच घंटे तो अपोलो में 10-12 घंटे की ऑक्सीजन बची है। बता दें कि स्टीफंस अस्पताल में 350 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं। कल्पना कीजिए, अगर वक्त पर उन्हें ऑक्सीजन नहीं मिली तो क्या कुछ हो सकता है।

ये भी पढ़ेंः ‘महाराष्ट्र शोकमग्न है!’ नासिक ऑक्सीजन लीक कांड पर सीएम ने इन शब्दों में व्यक्त की अपनी संवेदना

हरियाणा का ये हाल
हरियाणा के फरीदाबाद में ऑक्सीजन सप्लाई करनेवाला वेंडर लिंडे इंडिया ऑक्सीजन लेकर नहीं पहुंच सका है। अस्पताल के पीआर डिपार्टमेंट का कहना है कि कंपनी ने ऑक्सीजन सप्लाई करने में असमर्थता जताई है।

यूपी भी बेहाल
उत्तर प्रदेश की बात करें तो यहां राजधानी लखनऊ में दो निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन खत्म हो गई है। सबसे बड़े जिला अस्पताल बलरामपुर में कुछ घंटों की ऑक्सीजन बची हुई है। निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन का स्टॉक खत्म होने की खबरें आ रही हैं। मेयो अस्पताल ने गेट के बाहर ऑक्सीजन खत्म होने का नोटिस चिपका दिया गया है। टीएस मिश्रा अस्पताल ने भी मरीजों को ले जाने का आदेश जारी कर दिया है

केंद्र ने बढ़ाया दिल्ली का कोटा
इस बीच केंद्र सरकार ने दिल्ली के लिए ऑक्सीजन का कोटा बढ़ा दिया है। अब दिल्ली को 378 मीट्रिक टन की जगह हर दिन 480 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की जाएगी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसके लिए केद्र सरकार को धन्यवाद दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here