इंदौर बनेगा विश्व का सबसे अच्छा शहर! जानिये, सरकार की क्या है योजना

मुख्यमंत्री ने कहा कि इंदौर में यातायात प्रबंधन का मास्टर प्लान बन रहा है। इंदौर के युवाओं ने बड़ी संख्या में स्टार्टअप कम्पनियां खड़ी कीं, जिसके लिये वे बधाई के पात्र हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि इंदौर को दुनिया का सबसे अच्छा शहर बनाएंगे। यहां देश का आईटी हब बनाने के साथ सुपर कॉरीडोर पर 4.5 करोड़ रुपये की लागत से स्टार्टअप पार्क बनाया जायेगा। अंतरराष्ट्रीय स्तर का स्टार्टअप ईको-सिस्टम विकसित किया जायेगा। इंदौर में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बन रहा है। अगले 10 वर्षों में इंदौर बैंगलुरु और हैदराबाद को पीछे छोड़ देगा।

मुख्यमंत्री चौहान 31 मई की शाम को इंदौर में मां अहिल्या की जन्म तिथि पर आयोजित सात दिवसीय गौरव दिवस के समापन समारोह में बोल रहे थे। नेहरू स्टेडियम में आयोजित इस कार्यक्रम में प्रसिद्ध गायिका श्रेया घोषाल एवं मनोज मुंतशिर ने प्रस्तुतियाँ दीं।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच बार स्वच्छता में अव्वल आने वाला इंदौर अब छक्का लगाने की तैयारी में है। यह मालवा का मुकुट-मणि है। इंदौर में देवी अहिल्याबाई होल्कर का विशाल स्मारक बनाया जाएगा। इसके संचालन के लिये बनने वाले ट्रस्ट की अध्यक्ष सुमित्रा महाजन होंगी। उन्होंने कहा कि इंदौर की भूमि पर स्व. लता मंगेशकर ने जन्म लिया। राजेन्द्र नगर में 24 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले 1500 सीटर ऑडिटोरियम का नाम स्वर कोकिला लता मंगेशकर के नाम पर रखा जायेगा। चिमन बाग मैदान के पास स्थित संगीत महाविद्यालय का उन्नयन किया जायेगा तथा उसका नाम भी लता मंगेशकर के नाम पर रखा जायेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इंदौर में यातायात प्रबंधन का मास्टर प्लान बन रहा है। इंदौर के युवाओं ने बड़ी संख्या में स्टार्टअप कम्पनियाँ खड़ी कीं, जिसके लिये वे बधाई के पात्र हैं। उन्होंने बताया कि बीजासन मंदिर से एबी रोड तक विकसित होने वाले इकानॉमिक कॉरीडोर से लाखों को रोजगार मिलेगा। पीथमपुर में देपालपुर तहसील में 2 हजार एकड़ में विकसित किये जा रहे क्षेत्र में अपार रोजगार की संभावना है। उन्होंने कहा कि इंदौर दानवीरों का शहर है। हमने निर्णय लिया है कि इंदौर में कोई भी भीख नहीं माँगेगा। भिखारियों का पुनर्वास करेंगे। उनमें जो दिव्यांग और बीमार हैं, उनके लिये आश्रय-स्थल, अहिल्या-धाम एवं शिव-कुटीर बनाये जायेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने संकल्प लिया है कि प्रदेश में कोई भी बच्चा कुपोषित नहीं रहेगा। मैं स्वयं आँगनवाड़ी के बच्चों के लिये खिलौने एवं अन्य सामग्री माँगने निकलता हूँ। लोगों ने अपार उत्साह दिखाया है। इंदौर शहरवासियों ने आँगनवाड़ियों के लिये आज 8.5 करोड़ रुपये के चेक प्रदान किये हैं। इसके लिये मैं इंदौर शहर का अभिनंदन करता हूँ। मध्यप्रदेश से कुपोषण को खत्म कर देंगे।

मुख्यमंत्री चौहान ने कार्यक्रम का शुभारंभ मां अहिल्या की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर किया। उन्होंने इंदौर की विभिन्न विभूतियों और प्रतिभाओं को सम्मानित किया। उन्होंने इंदौर गौरव-गान का अनावरण भी किया। कार्यक्रम में पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर, जल-संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, सांसद शंकर लालवानी, विधायक गण उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here