खत्म होगा बिजली संकट? भारतीय रेल ने बिजली संयंत्रों के लिए कोयला ट्रेनों मे की वृद्धि

भारतीय रेल ने बिजली क्षेत्र के लिए कोयले के लदान को प्राथमिकता देते हुए कई कदम उठाए हैं।

भारतीय रेल सभी बिजली संयंत्रों के लिए कोयले की मुख्य आपूर्तिकर्ता है और वर्ष 2021-22 और वर्तमान अप्रैल महीने में बिजली संयंत्रों को कोयले की आपूर्ति बढ़ाने के लिए कई अहम उपाय किए गए हैं। वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान भारतीय रेल ने रेलवे के माध्यम से कोयले की ढुलाई रिकॉर्ड 11.1 करोड़ टन बढ़ा दी और इस साल कुल 65.3 करोड़ टन कोयले का लदान किया, जो पिछले साल के 54.2 करोड़ टन की तुलना में 20.4 प्रतिशत ज्यादा है। इसके अलावा सितंबर, 21 से मार्च, 22 तक सिर्फ दो तिमाहियों के दौरान बिजली क्षेत्र के लिए कोयले की आपूर्ति में 32 प्रतिशत की बढ़ोतरी की गई।

कोयले के लदान को प्राथमिकता देते हुए उठाए गए कई कदम
सीपीआरओ लेफ्टिनेंट कर्नल शशि किरण ने बताया कि अप्रैल, 2022 में, भारतीय रेल ने बिजली क्षेत्र के लिए कोयले के लदान को प्राथमिकता देते हुए कई कदम उठाए, जिससे सिर्फ एक सप्ताह के भीतर कोयले की आपूर्ति 10 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ गई। किरण के अनुसार भारतीय रेल द्वारा किए गए विभिन्न उपायों के चलते ही यह सुधार संभव हुआ है, उसमें कोयले से भरी ट्रेनों की आवाजाही को प्राथमिकता दी गई और लदान से परिवहन और आखिर में उतार तक पूरे चक्र के दौरान हर ट्रेन की गहन निगरानी की गई, प्राथमिकता और निगरानी के माध्यम से अहम बिजली संयंत्रों के लिए कोयला ट्रेनों का पारगमन समय 12-36 प्रतिशत तक घट गया है।

ये भी पढ़ें – सीबीएसई में अब नहीं पढ़ाया जाएगा मुगलों का इतिहास! जानिये, कौन-कौन से पाठ किए गए आउट

कोयला ट्रेनों की औसत लोड में बढ़ोतरी
उन्होंने बताया कि भारतीय रेल ने ज्यादा दूरी पर स्थिति बिजली संयंत्रों को आपूर्ति को प्राथमिकता दी है, जिसकी पुष्टि इस तथ्य से होती है कि 1 से 10 अप्रैल तक की औसत लीड की तुलना में पिछले 5 दिनों में कोयला ट्रेनों की औसत लीड में 7 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हो गई है। इसके अलावा कोयला ट्रेनों की औसत लीड में बढ़ोतरी के बावजूद इन भंडारों के लिए एक ही रैक की दो लगातार लोडिंग में लगने वाला समय 10 प्रतिशत तक घट गया है, संचालन से जुड़े इन नवाचारों के साथ भारतीय रेल ने बिजली संयंत्रों के लिए कोयला ट्रेनों की आपूर्ति में बढ़ोतरी की है, साथ ही टिकाऊ आधार पर ज्यादा कोयला रैकों का लदान किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here