कोविड 19 संक्रमण: रेल कोच में ही सुधर रही लाइफ की लाइन

सवारियों को गंतव्य तक पहुंचानेवाले रेलवे के कोच इन दिनों नए अवतार में हैं। कोविड 19 संक्रमण काल में इन कोच का आइसोलेशन बेड के रूप में उपयोग किया जा रहा है। इनमें से कुछ कोच ऑक्सीजन की सुविधा से लैस हैं।

कोविड के खिलाफ एकजुट लड़ाई में राष्ट्र की क्षमताओं को मजबूत करते हुए रेल मंत्रालय ने अपनी बहु-आयामी पहलों के बीच करीब 64,000 बेड साथ लगभग 4,000 आइसोलेशन कोचों को तैनात किया है। इन आइसोलेशन कोचों को आसानी से स्थानांतरित और भारतीय रेल नेटवर्क पर मांग के स्थानों पर इन्हें तैनात किया जा सकता है।

वहीं राज्यों की मांग के अनुसार वर्तमान में कोविड मरीजों की देखभाल के लिए विभिन्न राज्यों को 2,990 बेड की क्षमता के साथ 191 कोच सौंपे गए हैं। मौजूदा समय में आइसोलेशन कोचों का इस्तेमाल दिल्ली, महाराष्ट्र (अजनी आईसीडी, नांदरूबार), मध्य प्रदेश (इंदौर के करीब तीही) में किया जा रहा है। रेलवे ने उत्तर प्रदेश के बड़े शहरों जैसे फैजाबाद, भदोही, वाराणसी, बरेली और नजीबाबाद में भी 50 कोच लगाए हैं।

ये भी पढ़ें – अब राज्यों को सस्ती मिलेगी कोविशील्ड!

दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में तैनात इन कोचों की उपयोगिता की अद्यतन स्थिति निम्नलिखित है।

  • वर्तमान में महाराष्ट्र के नांदरूबार में 58 मरीज इस सुविधा का इस्तेमाल कर रहे हैं। अब तक राज्य स्वास्थ्य प्राधिकारियों द्वारा मरीजों के डिस्चार्ज के साथ कुल 85 भर्ती पंजीकृत किए गए हैं। अभी भी 330 बेड उपलब्ध हैं।
  • रेलवे ने दिल्ली में 1200 बिस्तरों की क्षमता के साथ 75 कोविड केयर कोचों की राज्य सरकार की मांग को पूरा किया है। इनमें से 50 कोच शकूरबस्ती और 25 कोच आनंद विहार स्टेशन पर तैनात हैं। अब तक इनमें 5 भर्ती पंजीकृत किए गए हैं। 1196 बेड अभी भी उपलब्ध हैं।
  • मध्य प्रदेश राज्य सरकार द्वारा 2 कोचों की मांग के संबंध में पश्चिमी रेलवे के रतलाम डिवीजन ने इंदौर के पास तीही स्टेशन पर 320 बेड की क्षमता वाले 22 कोच तैनात किए हैं। वहीं भोपाल में 20 कोच तैनात किए गए हैं। नवीनतम आंकड़ों के अनुसार एक डिस्चार्ज के साथ इनमें 13 मरीजों को भर्ती किया गया। इनमें अभी 280 बेड उपलब्ध हैं।

ये भी पढ़ें – आकस्मिक मृत्यु होने पर परिजनों को मिल सकता है सरकारी योजनाओं का लाभ

नवीनतम रिकॉर्ड के अनुसार, उपरोक्त राज्यों में कुल मिलाकर 103 मरीजों को भर्ती किया गया। इनमें से 39 को डिस्चार्ज किया जा चुका है। वर्तमान में 64 कोविड मरीज इन आइसोलेशन कोचों का उपयोग कर रहे हैं।

हालांकि उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा अब तक कोचों की मांग नहीं की गई है, फैजाबाद, भदोही, वाराणसी, बरेली और नजीबाबाद में कुल 800 बिस्तरों (50 कोच) की क्षमता के साथ प्रत्येक स्थान में 10 कोच रखे गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here