खुशखबर! भारत को बहुत जल्द मिलेगा कोरोना से लड़ने का एक और हथियार!

टीके के वरदान पाकर ही कोरोना की जंग में हम जीत हासिल कर सकते हैं। अच्छी बात यह है कि देश को बहुत जल्द एक और टीका मिलने की संभावना बन रही है।

देश में कोरोना की रफ्तार सुस्त पड़ने राहत मिलती नजर आ रही है, लेकिन अभी भी देश के कई राज्य बुरी तरह इसकी चपेट में हैं। इसके साथ ही इसकी तीसरी लहर आने का खतरा भी बरकरार है। इस स्थिति में देश में जल्द से जल्द लोगों का टीकाकरण किया जाना जरुरी है। टीके के वरदान पाकर ही कोरोना की जंग में हम जीत हासिल कर सकते हैं। अच्छी बात यह है कि देश को बहुत जल्द एक और टीका मिलने की संभावना बन रही है। अमेरिकी कंपनी फाइजर की ओर से इस तरह के संकेत मिले हैं।

फाइजर ने 2 जून को कहा कि वह टीकाकरण कार्यक्रम में इस्तेमाल के लिए अपनी कोविड-19 वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए भारत सरकार से बातचीत कर रहा है। फाइजर की ओर दी गई जानकारी में कहा गया है कि वर्तमान में भारत सरकार से इस दिशा में बातचीत चल रही है। इसलिए हम इस बारे में ज्यादा विवरण उपलब्ध नहीं करा सकते।

भारत में दोबारा ट्रायल नहीं
बता दें कि भारत के दवा नियामक डीजीसीआई ने फाइजर और मॉडर्ना कोविड रोधी वैक्सीन सहित अन्य विदेशी वैक्सीन को देश में उनके इस्तेमाल करने से पहले दोबारा ट्रायल कराने की शर्त को हटा लिया है। दवा नियामक ने कहा है कि जिन वैक्सीनों को अमेरिकी एफडीए से आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी है या जिन्हें विश्व स्वास्थ्य संगठन ने आपात काल में इस्तेमाल करने की मंजूरी दे दी है, उनका भारत में ट्रायल करने की जरुरत नहीं है।

ये भी पढ़ेंः कोविड 19 के बुरे प्रभाव पड़े बच्चों पर, जानें कौन क्या कर रहा है?

तीन वैक्सीन पहले से उपलब्ध
बता दें कि भारत में अपने देश में निर्मित कोविशील्ड और कौवैक्सीन के साथ ही रुसी टीका स्पूतनिक वी भी उपलब्ध है। फाइजर की अगर भारत में एंट्री होती है तो यह देश में इस्तेमाल होने वाली चौथी वैक्सीन होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here