कोरोना के मामले में चीन की तुलना में भारत की स्थिति कैसी है? डॉ रणदीप गुलेरिया ने किया ये दावा

डॉ. गुलेरिया ने कहा कि सर्दी में वायरल इंफेक्शन बढ़ जाता है। बेहतर देखभाल की जरूरत है। विशेष रूप से उच्च जोखिम वाले समूहों के लिए खुद को बचाने और बूस्टर खुराक लेने के लेना जरुरी है।

चीन, अमेरिका में कोरोना की वापसी के मद्देनजर देश में भी इसे लेकर चिंताएं बढ़ गई हैं। केंद्र सरकार ने लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी है। वहीं, विशेषज्ञ भी स्थिति पर निगरानी की बात कह रहे हैं।

मौजूदा स्थिति पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मेदांता के निदेशक और पूर्व एम्स निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि कोरोना को लेकर चीन की तुलना में भारत की स्थिति काफी बेहतर है क्योंकि देश की टीकाकरण रणनीति बहुत सफल रही है, उच्च जोखिम वाले समूह के अधिकांश लोगों ने बूस्टर खुराक ली है। इसके साथ काफी लोग प्राकृतिक रूप से संक्रमित भी हुए हैं। मौजूदा समय में देश में कोरोना के मामले कहीं नहीं बढ़ रहे हैं। लेकिन लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है।

सर्दी में विशेष ध्यान रखने की जरुरत
डॉ. गुलेरिया ने कहा कि सर्दी में वायरल इंफेक्शन बढ़ जाता है। बेहतर देखभाल की जरूरत है। विशेष रूप से उच्च जोखिम वाले समूहों के लिए खुद को बचाने और बूस्टर खुराक लेने के लेना जरुरी है। डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि कोरोना पर सख्त निगरानी की आवश्यकता है ताकि अगर कहीं भी मामले बढ़ते हैं तो जल्द से जल्द कदम उठाएं जा सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here