कोविड-19 का बढ़ा प्रकोप, भारत ने उठाया यह बड़ा कदम

विश्व में एक बार फिर कोविड-19 महामारी का संसर्ग बढ़ रहा है। ऐसे में भारत ने सचेत भूमिका अपनाई है।

विश्व में चीन, दक्षिण कोरिया, अमेरिका सहित कई देशों में कोरोना तेजी से फैल रहा है। चीन में तो स्थिति बहुत खराब हो गई है। ऐसी परिस्थिति में भारत के केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से बड़ा निर्णय किया गया है। जिसमें जिनोम सिक्वेन्सिंग का निर्णय लिया गया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने पत्र के द्वारा सभी को कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के प्रति सूचित किया है। उनके पत्र में लिखा है कि, भारत कोविड-19 नियंत्रण के लिए पांच सूत्रीय कार्यक्रम के अनुसार कार्य कर रहा है, जिसके कारण सप्ताह में मात्र बाहर सौ कोरोना संसर्ग के प्रकरण सामने आए हैं। लेकिन जन स्वास्थ्य के लिए कोविड-19 अब भी चुनौती के रूप में खड़ा है, विश्व में इस सप्ताह पैंतीस लाख कोविड-19 संसर्ग के प्रकरण सामने आए हैं।

ये भी पढ़ें – बंटवारे का विरोध करने वाले नेहरू दो दिन में कैसे बदल गए? रणजीत सावरकर ने राहुल गांधी को खुलासा करने की दी चुनौती

इसके लिए जून 2022 में ऑपरेशनल दिशानिर्देश जारी किये गए थे, जिससे संसर्ग की अग्रिम जानकारी प्राप्त हो सके। वर्तमान में अचानक कोरोना संसर्ग का प्रमाण जापान, अमेरिका, चीन, कोरिया और ब्राजील में बढ़ा है। इसलिए यह अवश्यक है कि, पॉजिटिव केसेज की जिनोम सिक्वेन्सिंग कराई जाए। जिससे सार्स सीओवी-2 का जिनोम कन्सोर्टियम नेटवर्क पता किया जा सके। इस परीक्षण से कोविड-19 के नए वेरियंट का पता चल पाएगा।

इसे देखते हुए सभी राज्यों से अपील की जाती है कि, वे कोविड-19 पॉजिटिव प्रकरणों की प्रतिदिन आधारी जिनोम सिक्वेन्सिंग सुनिश्चित करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here