प्रवासी मजदूरों के भगवान सोनू पर लगा ऐसी चोरी का आरोप!

सूद फाउंडेशन शहरों में फंसे लोगों के लिए फरिश्ते से कम नहीं था। जब लोग हजारो किलोमीटर चलकर अपने गांव पहुंचने की कोशिश कर रहे थे, उस समय सोनू सूद ने लोगों को स्पेशल ट्रेन, बस और विमान से गांव रवाना किया था।

अभिनेता सोनू सूद के ठिकानों पर आयकर विभाग का तीन दिनों तक सर्च ऑपरेशन चल रहा था। अब आयकर विभाग से ऐसी जानकारी मिल रही है कि सोनू सूद ने कर चोरी की है। सोनू सूद ने लॉकडाऊन काल में उत्तर भारत के अनगिनत लोगों को मुंबई समेत देश के अन्य ठिकानों से उनके गांव भेजा था। इसके बाद तो सोनू सूद प्रवासी मजदूरों के लिए भगवान बन गए।

आयकर विभाग के अनुसार सोनू सूद की गैर सरकारी संस्था सूद फाउंडेशन ने विदेशों से धन प्राप्त किया था। इसमें 2.1 करोड़ रुपए का दान मिला था, जिसमें फॉरेन कॉन्ट्रीब्यूशन (रेग्यूलेटर) एक्ट का उल्लंघन हुआ है। एक अंग्रेजी मीडिया समूह ने आयकर विभाग के हवाले से बताया कि अभिनेता सोनू सूद और उनके सहयोगियों के यहां सर्च ऑपरेशन किया गया, इसमें कर चोरी के कई साक्ष्य मिले हैं।

ये भी पढ़ें – मुंबई एटीएस के हाथ आया ‘जान’ का ‘वो’ मोहरा

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस ने समाचार समूह को बताया कि अभिनेता ने अपनी बोहिसाबी आय को बोगस लोगों के सहयोग से ऋण के रूप में अपने एकाउंट में ट्रांसफर करवाया है। इन लोगों ने नकद के बदले चेक जारी किये थे। इसके लिए बुक्स ऑफ अकाउंट में भी प्रोफेशनल रिसिप्ट को ऋण के रूप में दिखाया गया है। आयकर विभाग के अनुसार इस तरह से लगभग 20 करोड़ रुपए की कर चोरी की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here