17 दिसंबर का इतिहासः इंसान के आसमान में उड़ने का सपना हुआ सच

देश-दुनिया के इतिहास में 17 दिसंबर की तारीख तमाम वजह से दर्ज है। इसी तारीख को इंसान के आसमान में उड़ने का सपना सच हुआ था। वह तारीख थी-17 दिसंबर 1903, जब राइट बंधुओं ने ‘द राइट फ्लायर’ नामक विमान पहली बार उड़ाया था। इस 12 सेकेंड की उड़ान ने सदियों की मनोकामना पूरी कर दी। ऑरविल और विल्बर राइट बंधुओं की वजह से ही आज हम और आप विमान का सफर कर पा रहे हैं। हुआ यूं था कि अमेरिका के पश्चिमी वर्जीनिया के हटिंगटन शहर के एक बिशप ने अपने बच्चों को एक खिलौना लाकर दिया। खिलौना फ्रांस के एयरोनॉटिक साइंटिस्ट अल्फोंसे पेनाउड के आविष्कार पर आधारित एक मॉडल था। ये कागज, रबर और बांस का बना हुआ था। यही वो घटना है, जिससे दो भाइयों की कल्पना को उड़ान मिली।

17 दिसंबर 1903 को इन दोनों भाइयों की कल्पना यथार्थ में जमीन से 120 फीट ऊपर 12 सेकंड की उड़ान भरने में कामयाब हुई। ये दो भाई थे विल्बर और ओरविल राइट। इस विमान का नाम दोनों भाइयों के नाम पर राइट फ्लायर रखा गया। राइट ब्रदर्स की इस सफलता के पीछे विफलता की कई कहानियां थीं। राइट ब्रदर्स की हवाई जहाज बनाने की कई कोशिशें नाकाम हुईं। लेकिन, उन्होंने कभी हार नहीं मानी। दोनों भाइयों में मशीनी तकनीक की अच्छी जानकारी थी। इससे पहले वह प्रिंटिंग प्रेस, मोटरों की दुकानों और अन्य जगहों पर काम कर चुके थे। उन्होंने साइकिल के पुर्जे जोड़कर हवाई जहाज का आविष्कार किया। फ्रांस की एक कंपनी ने दावा किया था कि उन्होंने इसका आविष्कार पहले ही कर लिया था। लेकिन, साल 1908 में राइट ब्रदर्स को इसकी मान्यता मिली।

भारत के लिए यह दिन है दुखद
और भारत के संदर्भ में इस तारीख का अहम महत्व है। बात 30 अक्टूबर 1928 की है। इसी साल भारत में साइमन कमीशन आया था। पूरे देश में इस कमीशन के विरोध ने जोर पकड़ा। साइमन कमीशन वापस जाओ के नारे लग रहे थे। इसकी अगुवाई कर रहे थे लाला लाजपत राय। इस दौरान एक घटना घटी। लाला लाजपत राय के साथ विरोध कर रहे युवाओं को बेरहमी से पीटा गया।

पुलिस ने लाला लाजपत राय पर बेरहमी से लाठियां बरसाईं। उन्हें गंभीर चोट आईं, और 17 नवंबर 1928 को उनकी मौत हो गई। लाठीचार्ज का आदेश जेम्स ए स्कॉट ने दिया था। लालाजी की मौत के बाद पूरे देश में आक्रोश था। भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, सुखदेव और दूसरे क्रांतिकारियों ने मौत का बदला लेने की प्रतिज्ञा की। लालाजी की मौत के एक महीने बाद यानी 17 दिसंबर 1928 का दिन स्कॉट की हत्या के लिए तय किया गया। क्रांतिकारियों के निशाने में चूक की वजह से गोली स्कॉट की जगह पुलिस अफसर जॉन पी सांडर्स को जा लगी। सांडर्स लाहौर के पुलिस हेडक्वार्टर से निकल रहे थे। तभी भगतसिंह और राजगुरु ने गोली चलाई थी। पहली गोली राजगुरु और दूसरी गोली भगत सिंह ने चलाई थी। सांडर्स की हत्या से बौखलाई अंग्रेजी हुकूमत ने भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को इसका दोषी माना और 07 अक्टूबर 1930 को फांसी देने का फैसला सुनाया।

महत्वपूर्ण घटनाचक्र

1398: मंगोल सम्राट तैमूरलंग ने दिल्ली पर कब्जा किया।

1715: सिखों के प्रमुख बंदा बहादुर बैरागी ने गुरुदासपुर में मुगलों के सामने हथियार डाले।

1777: फ्रांस ने अमेरिकी स्वतंत्रता को मान्यता दी।

1779ः मराठों और पुर्तग़ालियों के बीच लंबे संघर्ष के बाद मराठा सरकार ने मित्रता सुनिश्चित करने के लिए इस प्रदेश के कुछ गांवों का 12,000 रुपये का राजस्व क्षतिपूर्ति के तौर पर पुर्तगालियों को सौंप दिया।

1803: ईस्ट इंडिया कंपनी ने ओडिशा पर कब्जा किया।

1902: इटली के प्रसिद्ध आविष्कारक मार्कोनी ने पहला रेडियो स्टेशन बनाया।

1907: उग्येन वांग्चुक भूटान के पहले राजा बने।

1914ः पोलैंड के लिमानोव में आस्ट्रिया की सेना ने रूसी सेना को पराजित किया।

1914ः तुर्की अधिकारियों ने यहूदियों को तेल अवीव से बाहर खदेड़ा।

1925ः तत्कालीन सोवियत संघ और तुर्की ने एक दूसरे पर हमला न करने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए।

1927ः भारत के प्रमुख क्रांतिकारी राजेन्द्रनाथ लाहिड़ी को निर्धारित तिथि से 2 दिन पूर्व ब्रिटिश सरकार ने गोंडा जेल में फांसी पर लटका कर मार दिया।

1927: ऑस्ट्रेलिया के सर डॉन ब्रैडमैन ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट के पहले मैच में शतक बनाया।

1929ः महान क्रांतिकारी भगत सिंह और राजगुरु ने अंग्रेज पुलिस अधिकारी सांडर्स को गोली मारी।

1931ः कोलकाता में ‘भारतीय सांख्यिकी संस्थान’ की स्थापना।

1933: क्रिकेटर लाला अमरनाथ ने डेब्यू टेस्ट मैच की दूसरी पारी में शतक बनाया।

1940: महात्मा गांधी ने 1940 में सत्याग्रह आंदोलन स्थगित किया।

1996ः नेशनल फुटबॉल लीग का शुभारंभ।

1971ः भारत:पाकिस्तान युद्ध समाप्त।

1998ः अमेरिकी और ब्रिटिश ने ‘ऑपरेशन डेजर्ट फाक्स’ के तहत इराक पर भारी बमबारी की।

2000ः भारत और पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष मुख्यालयों में हॉटलाइन पुन: शुरू।

2002ः तुर्की ने कश्मीर मुद्दे पर भारत का समर्थन किया।

2005ः भूटान के राजा जिग सिगमे वांचुक को सत्ता से हटाया गया।

2008ः शीला दीक्षित ने दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

2009ः लेबनान के समुद्री तट पर कार्गो जहाज एमवी डैनी एफ टू के डूबने से 40 लोगों की मौत।

2014ः अमेरिका और क्यूबा ने 55 साल बाद दोबारा कूटनीतिक संबंधों को बहाल किया।

जन्म

1556ः बादशाह अकबर के दरबार के प्रसिद्ध कवि रहीम।

1869ः क्रांतिकारी लेखक, इतिहासकार और पत्रकार सखाराम गणेश देउसकर।

1905ः भारत के प्रथम कार्यवाहक राष्ट्रपति और पहले मुस्लिम मुख्य न्यायाधीश मोहम्मद हिदायतुल्लाह।

1922ः अमेरिकी इंजीनियर और शहरी योजनाकार एलन वूरीज।

1994ः लेखक ,विचारक एवं पूर्व छात्र नेता लखनऊ विश्वविद्यालय ललित शुक्ला।

1972ः भारतीय फिल्म अभिनेता जॉन अब्राहम।

निधन

1645ः मुगल सम्राट जहांगीर की पत्नी नूरजहां।

1927ः भारत के अमर शहीद प्रसिद्ध क्रांतिकारी राजेन्द्रनाथ लाहिड़ी।

1959ः प्रसिद्ध भारतीय स्वतंत्रता सेनानी भोगराजू पट्टाभि सीतारामैया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here