मुख्यमंत्री बनते ही पानी पड़ा… सौराष्ट्र में मेघ ने मचाया तांडव

तेज बारिश के कारण गुजरात के कई क्षेत्र जलमग्न हैं।

गुजरात के मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण के बाद ही नई मुसीबत से सामना हो गया। मुख्यमंत्री बनने के बाद भूपेंद्र सिंह ने सौराष्ट्र में मेघ तांडव की जानकारी ली। जामनगर और राजकोट में बारिश से 18 बांध लबालब हो गए हैं, जल जमाव के कारण 35 गांवों का संपर्क टूट गया है। कई क्षेत्रों में एनडीआरएफ के दल तैनात किये गए हैं।

जूनागढ़ में जल जमाव
विसावदर में पिछले 16 घंटों में 17 इंच बारिश होने से बस्ती और खेतों में पानी भर गया है। क्षेत्र के सरसई के पास आनेवाला बांध ओवरफ्लो हो गया है। इसके कारण बांध के 2 दरवाजे खोल दिये गए हैं। बारिश के जोर से जिले अंबाजण, झाझंश्री बांध भी बहने की कगार पर हैं।

ये भी पढ़ें – अब पाटीदार के हाथ गुजरात की कमान, भूपेंद्र पटेल ने ली शपथ

राजकोट में आकाशी आफत
उपलेटा में भी बारिश से मुसीबत खड़ी हो गई है। कई गांवों का संपर्क टूट गया है। खेतों में बाढ़ का पानी भरने के कारण किसानों की खड़ी फसल बर्बाद हो गई है। राजकोट शहर में बाढ़ का प्रभाव देखने को मिला है। नीचले क्षेत्रों में जल जमाव है। न्यारी-1 बांध से पानी छोड़े जाने के कारण वागुदड नदी उफान पर है। इसके कारण कालावाड मेटोडा आद्योगिक क्षेत्र को बंद कर दिया गया है।
जिले के आजी-3 बांध से पानी छोड़े जाने के कारण चार तहसीलों के कई गांव जलमग्न हो गए हैं।

जामनगर में हेलाकॉप्टर से राहत कार्य
जामनगर के बांधों के ओवर फ्लो होने से घुडसिया गांव में बाढ़ का पानी घुस गया है। इसके कारण वहां के ग्रामीणों को हेलीकॉप्टर की सहायता से निकाला गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here