अलविदा 2022ः हरियाणा पुलिस ने ‘इतने’ गुमशुदा लोगों को परिजनों से मिलाया

हरियाणा पुलिस गुमशुदा व्यक्तियों का पता लगाकर उन्हें फिर से परिजनों से मिलाने के लिए लगातार सक्रिय प्रयास कर रही है।

हरियाणा पुलिस ने साल 2022 में 12,616 लापता व गुमशुदा बच्चों और वयस्कों को खोजकर उनके परिवारों को सौंप कर उनकी मुस्कान वापस लाने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने सालभर में जिन्हें ढूंढने में कामयाबी हासिल की है, उनमें 4,839 पुरुष और 7,777 महिलाएं हैं, जो लंबे समय से किसी न किसी कारण से लापता थे।

पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार अग्रवाल ने 30 दिसंबर को बताया कि हरियाणा पुलिस गुमशुदा व्यक्तियों का पता लगाकर उन्हें फिर से परिजनों से मिलाने के लिए लगातार सक्रिय प्रयास कर रही है। पुलिस ने इस वर्ष 886 बाल भिखारियों और 1372 बाल श्रमिकों का पता लगाकर उन्हें रेस्क्यू किया है। यह बच्चे अपनी आजीविका के लिए छोटे-मोटे काम करते हुए पाए गए थे।

उन्होंने बताया कि जनवरी से दिसंबर 2022 के बीच बरामद किए बच्चों व वयस्कों में से 11,424 को पुलिस की फील्ड इकाइयों ने ट्रेस किया तथा स्टेट क्राइम ब्रांच की एंटी-ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट ने गहरी दिलचस्पी और समर्पण के साथ चलाए गए अभियान के तहत 1,192 को तलाशा गया।

स्टेट क्राइम ब्यूरो के डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि राज्य अपराध शाखा के तहत एंटी-ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट (एएचटीयू) ने भी 18 साल से अधिक उम्र के 664 व्यक्तियों का पता लगाया, जिनमें से 54 प्रतिशत महिलाएं थीं। 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों में बालिकाओं का प्रतिशत 43 था। एएचटीयू ने 886 बाल भिखारियों और 1331 बाल श्रमिकों को भी बचाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here