अब जेल में चलेगी ‘बाबा’ की पाठशाला, ये है उद्देश्य

योग की क्लास के लिए पतंजलि से प्रशिक्षक आते हैं, जो रोजाना योग की क्लास देते हैं।

हरिद्वार जिला कारागार के वरिष्ठ जेल अधीक्षक मनोज कुमार आर्य ने बताया कि उनकी कोशिश है कि कैदी अपनी मानसिकता बदलें। इसके लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। वो जब भी जिला कारागार से बाहर जाएं तो एक अच्छा इंसान बनकर जाएं।

ये भी पढ़ें – Drugs case : न्यायालय में पेश नहीं हुई रिया चक्रवर्ती, इस तिथि को होगी अगली सुनवाई

इसी कड़ी में जिला प्रशासन की ओर से रोजाना सुबह 6 से 7 बजे तक योग कराया जाता है, जिसमें सभी कैदी प्रतिभाग करते हैं। योग की क्लास के लिए पतंजलि से प्रशिक्षक आते हैं, जो रोजाना योग की क्लास देते हैं। सभी कैदियों को पतंजलि की ओर से योग क्लास के सर्टिफिकेट भी दिए जाएंगे।

3 से 5 बजे तक पढ़ाई
जो कैदी पढ़ना चाहते हैं, उनके लिए दोपहर 3 से शाम 5 बजे तक विशेष क्लास का इंतजाम किया गया है। जिसमें वो अपनी इच्छानुसार विषय चुनकर पढ़ाई कर सकते हैं। विशेष क्लास में 70 से ज्यादा बंदी प्रतिभाग कर रहे हैं। इस पाठशाला की शुरुआत प्रार्थना के साथ होती है और राष्ट्रगान के साथ इसका समापन किया जाता है। इसके लिए हर हफ्ते बाहर से एक टीचर को बुलाते हैं। इसका मुख्य उद्देश्य यही है कि जिला कारागार में बंद कैदियों को सही दिशा दिखा सकें। जो अशिक्षित बंदी जेल में है, उन्हें शिक्षित करना भी है, ताकि वो बाहर जाकर एक अच्छी जिंदगी जी सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here