अलविदा 2022: लॉकडाउन के बाद मेट्रो की नई शुरुआत

कोरोना महामारी के कारण समय-समय पर लगे लॉकडाउन के बाद वर्ष 2022 में मेट्रो की नई शुरुआत हुई। इस महामारी से उत्पन्न चुनौतियों के बावजूद दिल्ली मेट्रो ने तेजी से वापसी की। परियोजना और परिचालन दोनों ही क्षेत्रों में तेजी से कार्य हुए।

इस वर्ष विकास कुमार के नेतृत्व में एक नए युग की शुरुआत के रूप में भी देखा जाएगा, जिन्होंने दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड के तीसरे प्रबंध निदेशक के रूप में पदभार ग्रहण किया।

परियोजना के फेज-चार में निर्माण कार्यों में त्वरित गति के साथ-साथ दिल्ली मेट्रो की भारत तथा इजराइल, मिस्र, मॉरीशस, बहरीन और बांग्लादेश में विदेशी मेट्रो परियोजनाओं में परामर्शी सेवाओं के लिए बढ़-चढ़कर बोली लगाने के साथ ही यह एक सार्थक और सफल वर्ष रहा।

-16 जनवरी: दिल्ली मेट्रो संग्रहालय, पटेल चौक में दो नई आकर्षक प्रदर्शनी सामग्री लगाई गईं। एक मूल पेंटोग्राफ, जिसका उपयोग ट्रेनों द्वारा बिजली लेने के लिए किया जाता है। दूसरा, वर्तमान में देश भर में चल रहे विभिन्न मेट्रो ट्रेनों के मॉडल।

-25 जनवरी: ‘आजादी का अमृत महोत्सव – भारत की आजादी के 75 वर्ष’ के मनाए जा रहे जश्न के हिस्से के रूप में दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के तत्कालीन प्रबंध निदेशक डॉ. मंगू सिंह और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी में ब्लू लाइन के यमुना बैंक मेट्रो स्टेशन पर एक विशेष रूप से सजाई गई मेट्रो ट्रेन चलाई गई। लॉन्च के तुरंत बाद इस ट्रेन को यात्री सेवा में शामिल कर लिया गया।

-23 फरवरी: भारत सरकार की ‘डिजिटल इंडिया’ पहल के अनुरूप, जिसमें यह सुनिश्चित करने का प्रयास किया जाता है कि बेहतर ऑनलाइन बुनियादी ढांचे के द्वारा सरकार द्वारा नागरिकों को इलेक्ट्रॉनिक रूप में सेवाएं उपलब्ध कराई जाएं, दिल्ली मेट्रो ने अपनी संशोधित आधिकारिक वेबसाइट और मोबाइल एप्लिकेशन की शुरुआत की, जो दुनिया भर की मेट्रो रेलों पर सबसे समृद्ध और उन्नत इंटरेक्टिव डिजिटल प्लेटफार्मों में से एक हैं। यात्रियों की अधिक सुविधा के लिए डीएमआरसी की एक अत्याधुनिक मोबाइल एप्लिकेशन भी उसी दिन लांच की गई थी।

-24 फरवरी: भारत में मेट्रो रेल प्रणालियों के लिए सार्वजनिक निजी भागीदारी और स्वदेशीकरण से जुड़े एक प्रमुख ऐतिहासिक कदम के रूप में, दिल्ली मेट्रो ने अपने फेज-IV के विस्तार कार्यों के तहत तीन प्राथमिकता वाले कॉरिडोरों के लिए लिफ्ट और एस्केलेटर की लीज़ और उनके रख-रखाव के लिए पहली संविदा सौंपी।

यह सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) मॉडल पर आधारित सार्वजनिक बुनियादी ढांचा परियोजना के वित्त पोषण के लिए भारत में अपनाए गए इस क्षेत्र में अपनी तरह का पहला ऐतिहासिक वित्तीय मॉडल है, जिसमें मैसर्स जॉनसन लिफ्ट्स, चैन्ने (अर्थात् वेंडर) नामक कंपनी शुरुआत में लिफ्ट और एस्केलेटर तैयार कर उनके डिजाइन, निर्माण, आपूर्ति, स्थापना, परीक्षण और कमीशनिंग की पूरी लागत वहन करेगी और 15 वर्ष की अवधि के लिए उनका रख-रखाव करेगी।

-25 फरवरी: दिल्ली मेट्रो ने स्वदेशी रूप से विकसित नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (एनसीएमसी) को पूरे नेटवर्क पर लागू करने के अपने सतत् प्रयासों के तहत मैसर्स रेवेन्यू कलेक्शन सिस्टम्स (थेल्स), फ्रांस एसएएस और मैसर्स पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड के एक कंसोर्टियम के साथ स्वचालित किराया संग्रह (एएफसी) प्रणाली से युक्त इकोसिस्टम के उन्नयन के साथ एनसीएमसी के निष्पादन हेतु एक करार किया, जो क्यूआर टिकट, खाता आधारित टिकट और नियर फील्ड कम्युनिकेशंस (एनएफसी) मीडिया के माध्यम से यात्रा को भी इनेबल करेगा।

यह करार फेज-IV के तहत तीन प्राथमिकता वाले कॉरिडोरों (जनकपुरी पश्चिम–आर. के. आश्रम मार्ग, मजलिस पार्क-मौजपुर और तुगलकाबाद-एरोसिटी) के लिए स्वचालित किराया संग्रह (एएफसी) कार्यों और फेज़-I, II तथा III की वर्तमान (परिचालित) स्वचालित किराया संग्रह (एएफसी) प्रणाली के उन्नयन के लिए है।

-28 फरवरी: डीएमआरसी और केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) ने एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए, जिसके अनुसार डीएमआरसी तकनीकी सहायता प्रदान करने के साथ-साथ मौजूदा मेट्रो नेटवर्क को नए केंद्रीय सचिवालय भवनों के साथ कनेक्ट करने के लिए मेट्रो लूप कॉरिडोर के निर्माण के लिए फिनिशिंग और उन निर्माण कार्यों का निष्पादन करेगी जो सेंट्रल विस्टा एरिया की पुनर्विकास परियोजना का हिस्सा बनेंगे।

डीएमआरसी के तत्कालीन प्रबंध निदेशक डॉ. मंगू सिंह और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी में मेट्रो भवन में डीएमआरसी के निदेशक/ व्यवसाय विकास, श्री प्रमित कुमार गर्ग और विशेष महानिदेशक/ सीपीडब्ल्यूडी, पी. एस. चौहान ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

-04 मार्च: येलो लाइन और एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर नई दिल्ली मेट्रो स्टेशनों के बीच नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के अजमेरी गेट साइड में उत्तर रेलवे के सहयोग से डीएमआरसी द्वारा निर्मित एक डेडिकेटिड स्काईवॉक यात्रियों के लिए खोला गया। यह नवनिर्मित स्काईवॉक रेलवे स्टेशन के अंदर फुट ओवर ब्रिज (एफओबी) का विस्तार है। यह स्टेशन की अजमेरी गेट साइड में भवभूति मार्ग स्थित मल्टीलेवल पार्किंग साइड को येलो लाइन और एयरपोर्ट लाइन के नई दिल्ली मेट्रो स्टेशनों के प्रवेश और निकास स्थलों के साथ जोड़ता है।

-15 मार्च: दिल्ली मेट्रो को ‘1000 करोड़ रु. से अधिक टर्नओवर वाली गैर-सूचीबद्ध कंपनी’ की श्रेणी के तहत प्रतिष्ठित ‘एसोचैम 10वें रिस्पॉन्सिबल ऑर्गनाइजेशन एक्सीलेंस अवार्ड्स 2020-21’ में प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया। डॉ. मंगू सिंह, प्रबंध निदेशक ने एक वर्चुअल सेरेमनी में यह पुरस्कार प्राप्त किया जहां अर्जुन राम मेघवाल, संसदीय कार्य मंत्री और संस्कृति राज्य मंत्री, भारत सरकार मुख्य अतिथि थे।

-29 मार्च: डॉ. मंगू सिंह, तत्कालीन प्रबंध निदेशक, डीएमआरसी ने पिंक लाइन के पंजाबी बाग वेस्ट मेट्रो स्टेशन पर लाइन-5 पर नवनिर्मित एक अतिरिक्त इंटरचेंज स्टेशन का उद्घाटन किया जो लाइन-5 अर्थात् ग्रीन लाइन (ब्रिगेडियर होशियार सिंह से इंद्रलोक/ कीर्ति नगर) और लाइन-7 अर्थात् पिंक लाइन (मजलिस पार्क से शिव विहार) के बीच इंटरकनेक्टिविटी प्रदान करेगा।

-1 अप्रैल: विकास कुमार ने दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के नए प्रबंध निदेशक के रूप में जिम्मेदारी संभाली। विकास कुमार ने डॉ. मंगू सिंह से पदभार ग्रहण किया जो 1 जनवरी, 2012 से डीएमआरसी के प्रबंध निदेशक थे।

-10 अप्रैल: मेट्रो स्टेशनों के सुरक्षा तलाशी स्थलों पर एक्स-रे बैगेज स्कैनिंग सिस्टम (एक्स-बीआईएस सिस्टम) को और उन्नत तथा मजबूत बनाने के उद्देश्य से दिल्ली मेट्रो ने अपने मेट्रो स्टेशनों पर चरणबद्ध तरीके से अत्यधिक उन्नत और अत्याधुनिक बैगेज स्कैनर लगाने की शुरूआत की।

-3 मई: दिल्ली मेट्रो ने अपना 28वां स्थापना दिवस मनाया। स्थापना दिवस कार्यक्रम मेट्रो भवन सभागार में आयोजित किया गया, जहां मनोज जोशी सचिव, आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय तथा अध्यक्ष/ डीएमआरसी, नरेश कुमार, मुख्य सचिव, दिल्ली सरकार, विकास कुमार, प्रबंध निदेशक, डीएमआरसी और अन्य वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित रहे।

-23 मई: दिल्ली मेट्रो ने भारत निर्मित सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘कू’ पर ‘ऑफिशियलडीएमआरसी’ यूजरनेम के साथ अपना आधिकारिक अकाउंट लांच किया। इस अकाउंट को निम्नलिखित लिंक के माध्यम से एक्सेस किया जा सकता है : https://www.kooapp.com/profile/OfficialDMRC

-21 जुलाई: दिल्ली मेट्रो ने भारत में कोलंबिया दूतावास के सहयोग से प्रसिद्ध कोलंबियाई अर्बन आर्टिस्ट लौरा ऑर्टिज़ हर्नांडेज़ द्वारा बनाई गई एक कलाकृति का उद्घाटन किया, जो मैजेंटा लाइन के वसंत विहार मेट्रो स्टेशन के बाहर स्टेशन की दीवार पर विकास कुमार, प्रबंध निदेशक/डीएमआरसी और मारियाना पचेको मोंटेस, भारत में कोलंबिया के राजदूत और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी में बनाई गई थी। यह कार्यक्रम कोलंबिया में चल रहे 212वें स्वतंत्रता दिवस समारोह के उपलक्ष्य में आयोजित किया गया था।

-18 अगस्त: दिल्ली मेट्रो रेल अकादमी (डीएमआरसी) में विश्व स्तरीय प्रशिक्षण सुविधाएं शुरू करने और उन्हें अपनाने के अपने सतत् प्रयास में श्री विकास कुमार, प्रबंध निदेशक, डीएमआरसी ने निदेशकगणों और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में एक अत्याधुनिक टेली-प्रेजेंस रूम और एक मॉडिफाइड अत्याधुनिक पुस्तकालय का उद्घाटन किया।

विकास कुमार ने डीएमआरए में जिमनेजियम, सम्मेलन कक्ष, ध्यान कक्ष, उन्नत मेनेजमेंट प्रोग्राम रूम, सिग्नल एवं दूरसंचार प्रदर्शन कक्ष, परिचालन प्रदर्शन कक्ष इत्यादि जैसी अन्य उन्नत सुविधाओं का दौरा भी किया।

-28 अगस्त: दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने दिल्ली छावनी में भारतीय सेना के लिए अत्याधुनिक ‘सैनिक आराम गृह’ (पारगमन सुविधा) का निर्माण किया है। डीएमआरसी ने वर्ष 2014 में हेरिटेज लाइन के निर्माण के लिए लाल किला के पास भारतीय सेना से जमीन का एक टुकड़ा लिया था। भूमि सौंपने की शर्तों के अनुसार, डीएमआरसी को सेना प्राधिकारियों द्वारा प्रदान किए गए स्थान पर सैनिक आराम गृह का निर्माण करना था।

-31 अगस्त: दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने पिंक लाइन पर डब्ल्यूटीसी नौरोजी नगर को भीकाजी कामा प्लेस मेट्रो स्टेशन से जोड़ने के लिए एक सब-वे बनाने के लिए एनबीसीसी के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। डब्ल्यूटीसी को एनबीसीसी द्वारा नौरोजी नगर में एक वाणिज्यिक परियोजना के रूप में विकसित किया जा रहा है जिसमें तीन-स्तरीय बेसमेंट पार्किंग और अन्य सेवाओं के साथ अनुमानित 34 लाख वर्ग फुट के निर्मित क्षेत्र वाले G 9 संरचना के 12 टावर शामिल हैं।

-01 सितंबर: विकास कुमार, प्रबंध निदेशक ने शानदार वीरता पुरस्कार पाने वालों के कुछ पारिवारिक सदस्यों की उपस्थिति में राजौरी गार्डन मेट्रो स्टेशन पर भारतीय सशस्त्र बलों के वीरता पुरस्कार पाने वाले और भारत की सबसे सफल शहरी पारगमन परियोजना, दिल्ली मेट्रो की यात्रा को समर्पित एक अद्वितीय स्थायी प्रदर्शनी का उद्घाटन किया।

यह अनूठी प्रदर्शनी भारतीय सशस्त्र बलों के उन वीरता पुरस्कार प्राप्तकर्ताओं को एक श्रद्धांजलि है जिन्होंने राष्ट्र की संप्रभुता और गरिमा को बनाए रखने के लिए अनुकरणीय साहस दिखाया है।

-30 सितंबर: दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन द्वारा निर्मित ‘सरमाउंटिंग चैलेंजेस’ नामक फिल्म ने 68वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार 2020 में सर्वश्रेष्ठ प्रचार फिल्म पुरस्कार (गैर-फीचर फिल्म) जीता। 28 मिनट लंबी इस फिल्म में फेज़-III के विस्तार के दौरान डीएमआरसी के समक्ष आने वाली निर्माण संबंधी विभिन्न चुनौतियों का वर्णन है।

फेज़-III में डीएमआरसी ने लगभग 190 कि.मी. नई लाइनों का निर्माण किया और पुरानी दिल्ली के भीड़भाड़ वाले इलाकों में निर्माण कार्य, आश्रम में एक अत्यंत व्यस्त सड़क चौराहे से गुजरने और हौज खास में दिल्ली मेट्रो के सबसे गहरे स्टेशन का निर्माण करने जैसी असंख्य चुनौतियों का सामना किया। अनुज दयाल, प्रधान कार्यकारी निदेशक, कॉरपोरेट कम्युनिकेशंस ने विज्ञान भवन में आयोजित पुरस्कार समारोह में भारत की माननीय राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मू से पुरस्कार प्राप्त किया।

-07 नवंबर: दिल्ली मेट्रो ने स्वदेशी संचार आधारित ट्रेन नियंत्रण प्रणाली (आई-सीबीटीसी) के विकास के लिए भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय (एमओएचयूए) के तहत भारत सरकार की ‘मेक इन इंडिया’ पहल के हिस्से के रूप में डीएमआरसी बीईएल और सी-डैक के साथ मिलकर स्वदेशी संचार आधारित ट्रेन नियंत्रण प्रणाली विकसित कर रही है।

ओम हरि पांडे, निदेशक/ विद्युत, डीएमआरसी और मनोज जैन, निदेशक/ आर एंड डी, बीईएल ने मेट्रो भवन में डीएमआरसी और बीईएल के वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में समझौता ज्ञापन का आदान-प्रदान किया।

-08 नवंबर: दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने रेड लाइन (लाइन-1 अर्थात् रिठाला से शहीद स्थल न्यू बस अड्डा) पर यात्री सेवाओं के लिए दो 8-कोच वाली ट्रेनों के पहले सेट की शुरुआत की, जिन्हें 39 छह कोच वाली ट्रेनों के मौजूदा बेड़े में से परिवर्तित किया गया है।

इन ट्रेनों के शामिल होने से अब इस लाइन पर सभी ट्रेनें 8-कोच वाली ट्रेनों को तदनुसार अकोमोडेट करने के लिए प्लेटफार्मों अंतिम छोर के समीप रुकेंगी। ट्रेनों के लिए प्लेटफॉर्म पर इंतजार कर रहे यात्रियों की सुविधा के लिए यह हेड स्टॉपिंग (प्लेटफॉर्मों के अंतिम छोर के समीप रुकने वाली ट्रेनें) लागू की जा रही है।

-9 दिसंबर: जापान और भारत के बीच परस्पर समझ और मित्रता बढ़ाने में अपने विशिष्ट योगदान की सराहना स्वरूप दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन को भारत में जापानी दूतावास द्वारा प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया। विकास कुमार, प्रबंध निदेशक/ डीएमआरसी ने जापानी दूतावास, नई दिल्ली में आयोजित एक समारोह में भारत में जापान के राजदूत महामहिम सुजुकी हिरोशी से प्रशस्ति पत्र प्राप्त किया।

-24 दिसंबर: दिल्ली मेट्रो ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में सफल मेट्रो संचालन के 20 वर्ष पूरे होने का ऐतिहासिक क्षण पर एक आयोजन किया। इस अवसर पर मेट्रो संचालन के 20 वर्ष तथा भारत-जापान साझेदारी की उपलब्धियों पर एक विशेष प्रदर्शनी का उद्घाटन भी किया गया, क्योंकि वर्ष 2022 भारत और जापान के बीच राजनयिक सम्बंधों के 70 वर्ष पूरे होने का प्रतीक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here