गणेशोत्सव 2022ः कठुआ शहर में कई स्थानों पर विराजे बप्पा, भक्तों में जबरदस्त उत्साह

श्री गणेश महोत्सव कठुआ की ओर से 31 अगस्त को ओल्ड गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल नगरी अड्डा कठुआ के आयोजन स्थल पर इस महोत्सव का शुभारंभ किया गया।

श्री गणेश जी का जन्मोत्सव देशभर में बड़े धूम-धाम से मनाया जा रहा है। गणेश चतुर्थी का पर्व भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है। कठुआ शहर के विभिन्न स्थानों पर भी भगवान श्री गणेश जी का जन्मोत्सव पर्व का शुभारंभ पूजा अर्चना के साथ किया गया। श्री गणेश महोत्सव कठुआ की ओर से 31 अगस्त को ओल्ड गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल नगरी अड्डा कठुआ के आयोजन स्थल पर इस महोत्सव का शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर श्री गणेश महोत्सव कमेटी कठुआ के सदस्यों ने विधि-विधान से पूजा अर्चना के साथ भगवान श्री गणेश जी की मूर्ति को विराजमान कर पर्व का शुभारंभ किया।

कमेटी के दिवाकर शर्मा ने बताया कि धार्मिक ग्रंथों के अनुसार भगवान गणेश का जन्म भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को हुआ था। इसलिए इनके जन्म दिवस पर गणेश चतुर्थी का उत्सव मनाया जाता है। इस पर्व में गणेश भगवान की मूर्ति स्थापित की जाती है और प्रतिदिन उनकी विधि-विधान से पूजा अर्चना की जाती है। इनकी पूजा के दौरान कई प्रकार के मंत्रों का जाप किया जाता है, जिससे भक्तों की सभी प्रकार की मनोकामनाएं पूरी होती हैं। शर्मा ने बताया कि कठुआ में भगवान श्री गणेश जी का जन्मोत्सव पर्व 2011 में प्रारंभ हुआ था।

इस तरह की जा रही है पूजा अर्चना
शर्मा ने बताया कि प्रतिदिन सुबह सात बजे से 9 बजे तक कार्यक्रम स्थल पर पूजा और हवन किया जाएगा। उसके बाद शाम 7 बजे से 8 बजे तक भजन संध्या कार्यक्रम किया जाएगा। इसी प्रकार 8 बजे के बाद रासलीला का भी प्रदर्शन किया जाएगा। इसमें वरिंधावन, हरियाणा, जम्मू के कलाकार भी उक्त कार्यक्रम के लिए पहुंचे हैं। इसी प्रकार कठुआ के गोविंदसर, वार्ड़ नंबर 21 सहित कई अन्य स्थानों पर गणेश महोत्सव मनाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here