लखनऊ में पांच मंजिला इमारत जमींदोज, अब तक 14 लोगों का रेस्क्यू

हादसे के बाद अब तक 14 लोगों का रेस्क्यू किया जा चुका है, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

लखनऊ के हजरतगंज थाना क्षेत्र में वजीर हसनगंज मार्ग पर एक पांच मंजिला इमारत 24 जनवरी की शाम को भरभरा कर गिर गई। इस हादसे में अब तक 14 लोगों का रेस्क्यू किया गया है। मलबे में अब भ्ईी  लोगों के दबे होने की आशंका है। हादसे की जानकारी मिलते ही पुलिस के साथ एसडीआरएफ व एनडीआरएफ की टीमें मौके पर पहुंची और बचाव अभियान शुरू किया। हादसे की सूचना के बाद अस्पतालों और ब्लड बैंक को अलर्ट कर दिया गया।

नक्शा पास किए बिना ही बनाया गया अपार्टमेंट
हादसे के बाद अब तक 14 लोगों का रेस्क्यू किया जा चुका है, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि, सभी खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं। संभागीय आयुक्त जैकब ने बताया कि बाहर निकाले गए लोग बिलकुल सही सलामत हैं। ये इमारत काफी पुरानी थी। बिना नक्शा पास कराए अपार्टमेंट बना दिया गया। इसकी जांच जोन कमेटी करेगी।

मुख्यमंत्री योगी ने हादसे का लिया संज्ञान
हादसे पर संज्ञान लेते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिलाधिकारी और पुलिस प्रशासन के अधिकारियों को मौके पर पहुंचकर राहत कार्य कराने के लिए निर्देशित किया। सीएम योगी ने घायलों को तत्काल अस्पताल पहुंचाकर जिला प्रशासन के अधिकारियों को उनके समुचित उपचार के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना भी की है।

ये भी पढ़ें- बांदा की बदलेगी तस्वीर, 95 उद्यमियों ने दिया ‘इतने’ हजार करोड़ के निवेश का प्रस्ताव

उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने घायलों का जाना हाल
उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक और नगर विकास मंत्री एके शर्मा मौके पर पहुंचे और मौके का जायजा लिया। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि राहत और बचाव कार्य किया जा रहा है। एसडीआरएफ, एनडीआरएफ की टीमें मौके पर मौजूद हैं। लोगों को बचाने की पूरी कोशिश की जा रही है। उन्होंने बताया कि हादसे को लेकर लखनऊ के सभी अस्पताल अलर्ट पर हैं। उपमुख्यमंत्री अस्पताल पहुंचकर घायलों का हालचाल जाना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here