कोरोना की तीसरी लहर का खौफ! महाराष्ट्र में इन पदों पर बंपर वैकेंसी

पूरे देश के साथ ही महाराष्ट्र में भी निकट भविष्य में कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका है। कोरोना की दूसरी लहर के दौरान राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था चरमराने लगी थी। उससे सबक लेते हुए तीसरी लहर के खतरे से निपटने के लिए तैयारी करनी जरुरी है।

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग में 2,226 पदों पर भर्ती के लिए सरकारी आदेश जारी किया गया है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, राज्य में कुल 118 स्वास्थ्य संस्थानों के लिए 812 नियमित पद सृजित होंगे। साथ ही 1,184 कुशल मनुष्य बल सेवाएं, 226 अकुशल मनुष्यबल सेवाएं मिलाकर कुल 2,226 पद पर योग्य उम्मीदवारों को नियुक्त किया जाएगा। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने यह जानकारी देते हुए बताया कि राज्य के स्वास्थ्य विभाग में 16,000 पद भरे जाने हैं। फिलहाल 2 हजार 226 पदों पर भर्ती के लिए आदेश जारी किया गया है।

जीआर में क्या है?
सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आदेश के मुताबिक 2,226 पदों में से कुछ नियमित और कुछ ठेका पद्धति से भरे जाएंगे। इसके तहत ग्रामीण प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, ग्रामीण अस्पतालों, उप-जिला अस्पतालों, जिला अस्पतालों और ट्रॉमा केयर इकाइयों में पदों को भरा जाएगा। इसमें हेल्थ ऑफिसर, नर्स, हेल्थ असिस्टेंट, फार्मास्युटिकल ऑफिसर, महिला और पुरुष ऑपरेटर, क्लर्क, चपरासी, ड्राइवर, क्लीनर आदि पद शामिल हैं।

ये भी पढ़ेंः महाराष्ट्रः पुणे सैनिटाइजर कंपनी अग्निकांड में पुलिस की बड़ी कार्रवाई!

टोपे ने ये कहा
स्वास्थ्य मंत्री टोपे ने कहा कि राज्य के स्वास्थ्य विभाग में जल्द ही 16,000 पद भरे जाएंगे। ए और बी वर्ग में कुल चार हजार पद भरे जाएंगे। टोपे ने कहा कि 12,000 सी और डी कर्मचारियों के लिए भी भर्ती प्रक्रिया तुरंत शुरू होगी। राज्य में कोरोना संकट की पृष्ठभूमि पर स्वास्थ्य खाते के विभिन्न विभागों में भर्ती प्रक्रिया शुरू की जाएगी। प्रदेश की आर्थिक स्थिति को देखते हुए फिलहाल 50 प्रतिशत भर्ती के निर्णय को मंजूरी दी गई है।

इसलिए स्वास्थ्य विभाग में भर्ती
निकट भविष्य में कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका है। इसकी दूसरी लहर के दौरान राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था चरमराने लगी थी। उससे सबक लेते हुए तीसरी लहर के खतरे से निपटने के लिए तैयारी करनी जरुरी है। टोपे ने कहा है कि तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए राज्य में भर्ती प्रक्रिया में तेजी लाई जाएगी। भर्ती प्रक्रिया आमतौर पर कैबिनेट द्वारा तय की जाती है। लेकिन इस बार सभी भर्ती के अधिकार मुख्यमंत्री को दिए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here