राष्ट्र रक्षकों और हिंदुओं के विरुद्ध ‘अन’सोशियल साजिश! जानिये क्या बोले मेज.जन(रि) जीडी बख्शी?

हिंदुत्व की बात, राष्ट्र की बात करनेवालों के विरुद्ध सोशल मिडिया पर जमकर दुष्प्रचार किया जा रहा है। इस दुष्प्रचार के निशाने पर सेना के वह अधिकारी हैं जिन्होंने कारगिल में पाकिस्तान को साफ कर दिया था। इसके साथ ही भारतीय जनता पार्टी के नेता और हिंदू धर्म के प्रचार करनेवाले लोग भी दुष्प्रचारियों की सूची में सम्मिलित हैं।

जो रण में बिगाड़ न पाए वे अब साइबर के सहारे राष्ट्र सेवक, जाबांज सैन्य अधिकारी और हिंदुओं के स्वर मेजर जनरल (रि) जीडी बख्शी के विरुद्ध द्रोह रच रहे हैं। यही नहीं भाजपा सांसद किरण खेर के विरुद्ध भी ऐसी ही साजिश रची गई है। जिसके पश्चात इन सभी को कहना पड़ा है कि ‘हम जिंदा हैं!’ वहीं इस कड़ी में एक नाम और है प्रवचनकार देवकीनंदन ठाकुर का, जिनके यूट्यूब चैनल की आईडी ही किसी ने हैक कर ली है।

यह कैसे षड्यंत्र है इसको समझाने के लिए एक घटना का उल्लेख करना आवश्यक है। 23 अप्रैल, 2021 को रात एक संदेश सोशियल मीडिया प्लेटफार्म पर प्रसारित हुआ। इसमें कुछ लोग पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के निधन पर संवेदनाएं व्यक्त कर रहे थे। संवेदना व्यक्त करनेवालों में केरल से कांग्रेस सांसद शशि थरूर भी थे। लेकिन, कुछ ही समय में भाजपा नेता कैलास विजयवर्गीय ने इसका खंडन किया और थरूर ने अपनी गलती की ठीकरा सोशल मीडिया के अपने सोर्स पर फोड़ते हुए सुर बदल दिये।

इस घटना के लगभग 15 दिनों के पश्चात एक बार फिर सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से मेज.जनरल (रि) जीडी बख्शी की मृत्यु का समाचार प्रसारित करते हुए संवेदनाएं प्रकट की जाने लगीं।

इसका खंडन करते हुए जीडी बख्शी ने कहा कि, मैं जिंदा हूं! और अभी अल्लाह ताला के पास नहीं गया हूं।

इस बीच जीडी बख्शी के पास फोन और इस कृत्य पर आक्रोषित लोगों के संदेश शुरू हो गए। जिसके बाद जीडी बख्शी जी ने खुद सामने आकर इसका खण्डन किया।

मेजर जनरल गगन दीप बख्शी सेवानिवृत्त वरिष्ठतम् सैन्य अधिकारी हैं। उन्हें कारगिल युद्ध में बटालियन का विजयी नेतृत्व करने के लिए विशिष्ट सेवा मेडल से सम्मानित किया गया था। इसके पश्चात उन्हें सेवा मेडल से भी सम्मानित किया गया।
वे थल सेना राष्ट्रीय राइफल्स में कार्यरत् थे, जो राजद्रोह और आतंकवादियों का काल बनकर जम्मू कश्मीर में सक्रिय है। मेज.जनरल(रि) जीडी बख्शी की फोटो के साथ वरिष्ठ पत्रकार, राजनीतिक कमेंटेटर और हिंदुत्व के प्रचारक पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ ने भी अपने ट्वीटर अकाऊंट से संदेश प्रसारित कर दुष्प्रचार का खण्डन किया है।

बोले अनुपम खेर भ्रम न फैलाएं
जनरल जीडी बख्शी के विरुद्ध षड्यंत्र के अंतर्गत दुष्प्रचार करने के पश्चात सोशल मीडिया कुछ ही समय में फिर एक दुष्प्रचार को प्रसारित करने लगा। यह समाचार था चंडीगढ़ से भारतीय जनता पार्टी की सांसद किरण खेर के स्वास्थ्य को लेकर। इसके प्रसारित होने के बाद किरण खेर के पति अनुपम खेर को सामने आना पड़ा और इसका खंडन करना पड़ा।

अनुपम खेर ने अपने ट्वीट में लिखा है कि, कुछ अफवाहें हैं किरण के स्वास्थ्य को लेकर। यह झूठी हैं। वो एकदम स्वस्थ्य हैं। सच तो यह है कि वो अपना दूसरा टीका दोपहर में लगवा चुकी हैं। मैं लोगों से निवेदन करता हूं कि ऐसे नकारात्मक समाचार न प्रसारित करें।

प्रवचनकार का भी अकाऊंट हैक
सुप्रसिद्ध हिंदू प्रवचनकार और हिंदुत्व के संवाहक देवकीनंदन ठाकुर के साथ भी हिंदू द्रोहियों ने धोखा कर दिया है। इस विषय में विजय शर्मा नामक एक शिष्य ने ट्वीट करके जानकारी दी है।

विजय शर्मा के ट्वीट को देवकीनंदन ठाकुर ने रिट्वीट किया है। ट्वीट में लिखा गया है कि 8 मई 2021 की रात, पूज्य महाराज के यूट्यूब चैनल की आईडी किसी हैक कर ली है।

साइबर अटैक तो नहीं
पहले सुमित्रा महाजन उसके पश्चात मेजर जनरल जीडी बख्शी और अब किरण खेर यह सबके सब झूठे प्रचार देशाभिमानियों और एक विशेष दल के नेताओं के लिए आ रही हैं। इसके पहले भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्वीट पर पाकिस्तान में बैठे लोगों द्वारा डिस्लाइक किया जाना साइबर अटैक से कम नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here