बूस्टर डोज लेने के लिए लोगों में उत्साह, पहले दिन ‘इतने’ लोग बने बाहुबली!

लोगों में सतर्कता डोज लेने के लिए भारी उत्साह देखा जा रहा है। 10 जनवरी को टीकाकरण केंद्रों पर बड़ी संख्या में लोग कतार लगाकर बूस्टर डोज लेते देखे गए।

देश में कोरोना के बढ़ती रफ्तार ने चिंता बढ़ा दी है। इसके साथ ही ओमिक्रोन का संक्रमण भी हर दिन बढ़ रहा है। इस स्थिति में स्वास्थ्यकर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स और गंभीर बीमारियों से पीड़ित 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को 10 जनवरी से बूस्टर डोज देने की शुरुआत की गई है। प्राप्त आंकड़ों के अनुसार पहले दिन लगभग 10 लाख लोगों ने बूस्टर डोज ली। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पात्र लोगों से कोरोना रोधी वैक्सीन की बूस्टर डोज लेने का अनुरोध किया है।

प्रधानमंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा, “भारत ने सतर्कता डोज देने की शुरुआत की है। आज टीका लगानेवालों को बधाई। मैं सभी पात्र लोगों से टीका लगवाने का अनुरोध करता हूं। क्योंकि हम जानते हैं कि कोराना के खिलाफ लड़ाई में टीकाकरण सबसे अधिक प्रभावी उपायों में से एक है।”

बूस्टर डोज लेने के लिए लोगों में उत्साह
लोगों में सतर्कता डोज लेने के लिए भारी उत्साह देखा जा रहा है। 10 जनवरी को टीकाकरण केंद्रों पर बड़ी संख्या में लोग कतार लगाकर बूस्टर डोज लेते देखे गए। पात्र लोगों की संख्या 5 करोड़ 70 लाख है। इनमें 1.05 करोड़ स्वास्थ्यकर्मी,1.90 करोड़ फ्रंटलाउन वर्कर्स और 2.75 करोड़ गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 60 साल से अधिक उम्र के लोग हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here