दिल्ली में इसलिए कम हो गया रावण का कद! ऐसे मनाया जा रहा है दशहरा

दिल्ली के लालकिला मैदान में पहले पुतलों की लंबाई 110 फीट तक हुआ करती थी। अब कोरोना और प्रदूषण के कारण इनकी लंबाई घटाकर 30 फीट कर दी गई है।

एक तो कोरोना उस पर बढ़ता प्रदूषण, इन दोनों का प्रभाव दिल्ली के दशहरे पर देखने को मिल रहा है। रामलीला समितियों ने इन कारणों से रावण, कुंभकरण और मेघनाद के पुतलों का कद छोटा कर दिया है। इस बार 10 फीट से लेकर अधिकतम 50-55 फीट लंबे पुतलों का ही दहन किया जाएगा। इन पुतलों में भी पटाखों का इस्तेमान वर्जित है। लेकिन पटाखों की आवाज डिजिटली सुनाई देगी। कई स्थानों पर वर्चुअली पुतला दहन की व्यवस्था की गई है।

लालकिला मैदान में 30 फीट का पुतला
लालकिला मैदान में पहले पुतलों की लंबाई 110 फीट तक हुआ करती थी। अब कोरोना और प्रदूषण के कारण इनकी लंबाई घटाकर 30 फीट कर दी गई है। प्रशासन के आदेश के अनुसार इस तरह का निर्णय लिया गया है। यहां भी पुतलों के दहन के समय पटाखें नहीं चलाए जाएंगे। पटाखों की रिकॉर्ड की गई आवाज सुनी जा सकेगी। इसके साथ ही स्क्रीन पर डिजिटल आतिशबाजी दिखेगी।

मुख्यमंत्री होंगे अतिथि
यहां मुख्य अतिथि के रुप में राजधानी के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल उपस्थित रहेंगे। उनके कार्यालय की ओर से निमंत्रण स्वीकार करने के बाद यह जानकारी दी गई है। दोपहर 2 बजे रामलीला का शुभारंभ होगा और शाम छह बजे पुतलों का दहन किया जाएगा।

ये भी पढ़ेंः दशहरा 2021ः जानिये, धार्मिक महत्व, शुभ मुहूर्त और पूजा की विधि

अन्य स्थानोें पर इस प्रकार होगा रावण दहन
– 15 अगस्त पार्क में बड़ी स्क्रीन पर वर्चुअली पुतलों को दहन देखा जा सकेगा।

-सीबीडी ग्राउंड में 75 की जगह 40 से 50 फीट के पुतलों का दहन किया जाएगा। यहां क्षेत्रीय विधायक अतिथि के रुप में उपस्थित रहेंगे।

-शास्त्री पार्क में 50 फीट की जगह 35 फीट के पुतलों का दहन किया जाएगा।

-करोल बाग में पुतलों की ऊंचाई 25-30 फीट घटा दी गई है। पहले यहां 85 फीट तक की ऊंचाई के पुतले हुआ करते थे।

-कश्मीरी गेट पर 10 फीट के रावण के पुतले का दहन किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here