मुंबई में दही हांडी फोड़ने में 153 घायल, पर ये है राहत की बात

दही हांडी को महाराष्ट्र में खेल की श्रेणी मिल गई है। इसके साथ ही दो वर्षों पश्चात प्रतिबंध रहित त्यौहार मनाने का अवसर लोगों को मिला, जिसके कारण उत्साह चरम पर था।

मुंबई में श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर दही हांडी फोड़ते हुए 153 गोविंदा घायल हो गए हैं। इन सभी को मुंबई के विभिन्न अस्पतालों में ले जाया गया, जहां 130 गोविंदा को डिस्चार्ज कर दिया गया है, 23 गोविंदाओं का इलाज अब भी जारी है। इस बार राहत की बात ये है कि, पूरे उत्सव के बीच किसी गोविंदा की जान नहीं गई है।

जानकारी के अनुसार आज सुबह से मुंबई महानगर में श्रीकृष्ण जन्मोत्सव भारी उल्लाश के साथ मनाया जा रहा है। पिछले दो साल कोरोना की वजह से यह त्योहार मनाया नहीं जा सका था। लेकिन इस वर्ष कोरोना मरीजों की संख्या घट जाने से यह त्योहार जोरदार उत्साह से मनाया जा रहा है। शुक्रवार सुबह से ही गोविंदाओं की टीम शहर में जगह- दही हांड़ी फोड़ रही है।

ये भी पढ़ें – मिठ चौकी की ट्राफिक से जनता त्रस्त, मंत्री-संतरी मस्त

मुंबई नगर निगम ने बताया कि रात तक मुंबई में कुल 153 गोविंदा घायल हुए। इनमें से 3 को जे.जे. अस्पताल, 5 को सेंट जार्ज अस्पताल, 13 को जी.टी. अस्पताल, 1 को बॉम्बे अस्पताल, 1 को एस.के पाटील अस्पताल, 1 को नानावटी अस्पताल, 12 को नायर अस्पताल, 40 को केईएम अस्पताल, 10 को सायन अस्पताल, 10 को ट्रॉमा अस्पताल, 14 को कुपर अस्पताल, 3 को कांदिवली स्थित शताब्दी अस्पताल, 8 को वी.एन.देसाई अस्पताल, 17 को राजावाड़ी अस्पताल, 1 को एम.टी. अस्पताल, 5 को बांद्रा भाभा अस्पताल, 6 को पोदार अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। इनमें से 88 घायल गोविंदाओं को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है, 23 का इलाज जारी है। इन सभी गोविंदाओं का अस्पतालों में मुफ्त इलाज किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here