राजनीति की बलि चढ़ा हिंदुओं का स्मशान! मुंबई में श्राद्ध कर्म के कमरे पर चला हथौड़़ा

दादर के शिवाजी पार्क का स्मशान हिंदू धर्म में विशेष महत्व रखता है। इस स्मशान के समुद्र किनारे होने कारण यहां की जानेवाली अंतिम क्रिया और श्राद्ध कर्म की मान्यता अधिक होती है।

दादर के शिवाजी पार्क स्थित भागोजी स्मशान, इस क्षेत्र का सबसे प्राचीन स्मशान है। इसके पीछे समुद्र होने के कारण इसका हिंदु धर्म में माहात्म्य अधिक है। इसी कारण यहां दूर-दूर से लोग दाह संस्कार के लिए आते हैं। लेकिन हिंदुओं के इस स्मशान से हिंदुत्व की राजनीति करनेवालों को ही दिक्कत हो रही थी, जिसके कारण विधायक निधि से मरम्मत कराई जा रही धर्मशाला पर महानगर पालिका ने हथौड़ा चला दिया।

इस स्मशान परिसर में श्राद्ध कर्म के लिए एक हॉल बना हुआ था। जो बहुत ही जीर्ण अवस्था में था। इसके जिर्णोद्धार का कार्य स्थानीय विधायक सदा सरवणकर ने अपने विधायक कार्य के अंतर्गत लिया। इसके लिए विधायक की स्थानीय विकास निधि से पैसे आबंटित किये गए और कार्य के लिए म्हाडा को चुना गया। सांसद और विधायक विधायक निधि से होनेवाले कार्य म्हाडा या मुंबई मनपा के द्वारा कराए जाते हैं। म्हाडा ने भी कार्य शुरू किया और सुंदर वास्तु के रूप में श्राद्ध कर्म का हॉल आकार लेने लगा। लेकिन इस बीच कुछ लोगों ने इसकी मनपा में शिकायत कर दी। जिसके कारण मुंबई मनपा ने म्हाडा से अतिरिक्त बनाए गए एक मजले की मंजूरी मांगी। जिस पर योग्य कागज नहीं मिल पाया, अतिरिक्त आयुक्त संजीव जयसवाल ने इसका निरीक्षण किया और अवैध निर्माण को तोड़ने का आदेश दे दिया।

यहां के श्राद्ध कर्म हॉल के स्थान पर तल और पहले मजले का निर्माण किया गया था। म्हाडा द्वारा किये जा रहे इस निर्माण के लिए कोस्टल रेग्युलेशन जोन और मनपा के इमारत विभाग की अनुमति नहीं ली गई थी। इसको लेकर शिकायतें मिल रही थीं। इसलिए म्हाडा को पत्र के माध्यम से इस पर तत्काल कार्रवाई करने का निर्देश अतिरिक्त आयुक्त ने दिया था। परंतु, आठ दिन बीत जाने के बाद भी इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। इसलिए शुक्रवार को उस निर्माण पर तोड़क कार्रवाई की गई।
किरण दिघावकर, सहायक आयुक्त, जी उत्तर विभाग

ये हैं शिकायतकर्ता
राज्य और मुंबई मनपा में शिवसेना की सरकार है। स्थानीय विधायक भी शिवसेना के हैं और उनके माध्यम से ही हिंदुओं के श्राद्ध कर्म के लिए आधुनिक हॉल बनवाया जा रहा था। लेकिन उनकी पार्टी से ही इसका विरोध हो गया और रही सही कसर भारतीय जनता पार्टी ने पूरी कर दी। इस निर्माण को लेकर शिवसेना की तत्कालीन महिला व बालकल्याण समिति अध्यक्ष हर्षला आशीष मोरे और भारतीय जनता पार्टी के नेता व विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष प्रवीण दरेकर ने शिकायत की थी।

शिवसेना में आपसी कलह
माहिम व दादर क्षेत्र में शिवसेना की आपसी कलह चरम पर है। आरोप है कि शिवसेना के विधायक और नगरसेवकों की अपसी दुश्मनी के कारण श्राद्ध कर्म के लिए बनाए जा रहे हॉल पर हथौड़ा चला है। सूत्रों के अनुसार इस विभाग में विद्यमान विधायक सदा सरवणकर के विरुद्ध एक बड़ी लॉबी तैयारी की जा रही है। इस लॉबी के अंतर्गत ही विकास की जगह विनाश की कार्रवाई हो रही है।

जनहित की मांग पर नवीनीकरण का निर्णय
125 वर्ष पुराने भागोजी स्मशान गृह में श्राद्ध कर्म के लिए दूर-दूर से हिंदू आते हैं। इसके कारण यहां भीड़ हो जाती है। इसी को ध्यान में रखते हुए इस कार्यशाला (हॉल) का निर्माण किया जा रहा था। इस पर दो करोड़ रुपए का खर्च किया जा रहा था। इसकी उंचाई भी उसी को लक्ष्यित करके रखी गई थी। लेकिन इससे कुछ लोगों को परेशानी थी। यदि ऐसा था तो उन्हें मुझे बताना चाहिए था। इस निर्माण को तोड़कर जनता को सुविधाओं से वंचित करने का प्रयत्न है यह।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here