कोविड-19 संक्रमण: क्या घर-घर होगा टीकाकरण? जानें केंद्र सरकार का उत्तर

कोविड-19 संक्रमण की गति तेजी से बढ़ी है। यह अब पूरे परिवार को ही संक्रमित कर रहा है। इसके अलावा इससे उपचार पाकर ठीक हुए लोगों में कई दुष्प्रभाव भी वायरस छोड़ रहा है।

केंद्र सरकार से महाराष्ट्र और दिल्ली की सरकार ने अलग-अलग मांग की थी। जिसमें दिल्ली सरकार ने सभी के लिए टीकाकरण की मांग की थी। इसी प्रकार महाराष्ट्र सरकार ने 25 वर्ष की आयु से ऊपर के सभी लोगों के लिए टीकाकरण की अनुमति मांगी थी। इन दोनों राज्यों की मांगों पर केंद्र सरकार ने अस्वीकार कर दिया है।

कोविड-19 पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा गठित टास्क फोर्स के प्रमुख डॉ वी.के पॉल ने कहा है इस चरण में कोविड-19 बहुत तेजी से फैल रहा है। इसकी संक्रमण की गति को देखते हुए अगले चार सप्ताह मुत्वपूर्ण हैं। कोविड के संक्रमण पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने और कई बातें कही हैं।

ये भी पढ़ें – वाह रे गुजरात मॉडल! कूड़े की गाड़ी में ढो रहे वेंटिलेटर… जानें मरीजों का क्या होगा हाल?

  • सीमित लोगों के लिए टीकाकरण अनुमति के पीछे कारण, जिन्हें आवश्यकता है उन्हें मिले, न कि जो मांग रहे
  • पिछले 24 घंटे में सामने आए 96,982 मामले, कुल सक्रिय मामलों की संख्या 7,88,223
  • संक्रमण की गति तेजी से बढ़ी, पिछली बार की अपेक्षा तेजी से बढ़ रहा
  • अगले चार सप्ताह महत्वपूर्ण
  • लोगों में हर्ड इम्यूनिटी कब आएगी इसका अब भी कोई उत्तर नहीं
  • यह मात्र टीके से संभव नहीं
  • टीके से मृत्यु दर में कमी आएगी

टूटे सारे रिकॉर्ड

  • वर्ल्डो मीटर के अनुसार पिछले 24 घंटे में 1.15 लाख नए मामले
  • पिछले रविवार को भी आंकड़ा 1,03,558
  • सक्रिय मामलों में भारत वैश्विक तालिका में चौथा
  • देश में सबसे अधिक प्रभावित हैं पांच राज्य
    महाराष्ट्र 31,13,354
    केरल 11,37,590
    कर्नाटक 10,20,434
    आंध्र प्रदेश 9,09,002
    तमिलनाडु 9,02,479

स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने क्या कहा
देश के 11 राज्यों में तेजी से फैल रहा संक्रमण
लोगों ने कोविड-19 के दिशानिर्देश को छोड़ लापरवाही बरती
केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग ने 50 बहु-आयामी जन स्वास्थ्य दल बनाए, जो इन राज्यों में हैं तैनात
राज्य             जिले
महाराष्ट्र          30
छत्तीसगढ़       11
पंजाब              9

यह दल पांच विषयों का निरिक्षण कर रिपोर्ट भेजेगा जिसमें परीक्षण, कहां से संपर्क हुआ, कन्टेनमेन्ट जोन, कोविड दिशानिर्देशों का पालन और टीकाकरण

ये भी पढ़ें – अब ईडी खोलेगी योगेश देशमुख के ‘प्रताप’… जानें क्या है मामला?

बिगाड़ रहा मानसिक स्वास्थ्य

  • कोविड-19 वायरस संक्रमण से ठीक हुए लोगों की मानसिक अवस्था को प्रभावित कर रहा
  • 34 प्रतिशत लोगों में पाई गई मानसिक समस्या
  • तीन में से एक व्यक्ति में पाई गई मानसिक विकृति
  • 13 प्रतिशत में पहली बार मानसिक समस्या हुई उत्पन्न

कोविड-19 से उपचार के बाद के मानसिक विकार

  • मानसिक चिंता           17 प्रतिशत
  • मनोवस्था विकार        14 प्रतिशत
  • पदार्थ दुरुपयोग विकार    7 प्रतिशत
  • अनिद्रा                     5 प्रतिशत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here