अब टिहरी के देवप्रयाग में बादलों ने ऐसे बरसाया कहर!

देवप्रयाग में मूसलाधार बारिश कहर बनकर उतरी है। इसके एक सप्ताह पहले भी बादलों ने तीन जिलों में ढाया था कहर।

उत्तराखंड के टिहरी देवप्रयाग में बादल फटने की घटना हुई है। जिससे इसकी चपेट में आनेवाले की घर और दुकानों के क्षतिग्रस्त होने का समाचार प्राप्त हुआ है। प्रारंभिक जानकारी में इससे किसी जनहानि की सूचना नहीं है।

लॉकडाउन टिहरी के देवप्रयाग के लोगों के लिए प्राण रक्षक बनकर उतरा है। इसके कारण शहर की  दुकानों में तालाबंदी थी, बादल फटने से हुी मूसलाधार बारिश से आईटीआई की इमारत ध्वस्त हो गई है।

ये भी पढ़ें – डॉन ने कोरोना को हराया! फिर से भेजा गया तिहाड़ जेल

प्रदेश में 3 मई को भी तीन स्थानों पर बादल फटे थे। इसमे टिहरी, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग जिले का समावेश था। इस बीच सोमवार को बादल फटने की पुनरावृत्ति होने के बाद लॉकडाउन लोगों के लिए लकी साबित हो गया। राज्य में 11 मई 2021 के सुबह 6 बजे से 18 मई 2021 की सुबह तक कर्फ्यू लगा दिया गया है। इसे लॉकडाउन से अनाज, फल, दूध, सब्जी, औषधि भंडार को छूट दी गई है।

बादल फटने के बाद हुई मूसलाधार बारिश से जिन निर्माणों को क्षति पहुंची है उसमें आईटीआई की इमारत की भी समावेश है।

यह घटना सायं 5 बजे के आसपास हुई। तेज बारिश के कारण जलस्तर बढ़ने की जानकारी देवप्रयाग के एसएचओ एमएस रावत ने दिया है।

बादल फटने की घटना 5 बजे घटित हुई है। लगभग 12-13 दुकानें और अन्य कई संपत्तियां क्षतिग्रस्त हुई हैं। अधिकांश दुकानें बंद होने कारण किसी जनहानि की जानकारी सामने नहीं आई है। जलस्तर निरंतर बढ़ रहा है, राहत कार्य शुरू है।
एनएस रावत, एसएचओ-रुद्रप्रयाग

ये भी पढ़ें – अब गोवा के सरकारी अस्पताल में 26 कोरोना मरीजों की मौत, स्वास्थ्य मंत्री ने कही ये बात

इस बीच मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने बताया है कि अलकनंदा और भागीरथी नदियों के संगम स्थल पर यह प्रकोप उमड़ा है। मुख्यमंत्री ने प्रशासन को तत्काल राहत व बचाव कार्य पहुंचाने का आदेश दे दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here