अब 12 से 14 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों का टीकाकरण? सरकार की ऐसी है योजना

देश में अब तक 15-18 वर्ष के आयु वर्ग के तीन करोड़ से अधिक बच्चों को वैक्सीन की पहली खुराक मिल चुकी है।

देश में कोरोना महामारी की तीसरी लहर दस्तक दे चुकी है और हर दिन मरीजों की संख्या बढ़ रही है। साथ ही कोरोना का एक नया वेरिएंट ओमिक्रोन का खतरा भी बढ़ रहा है। इस पृष्ठभूमि में केंद्र और राज्य सरकारें अब और अधिक सतर्क हो रही हैं। वे इन पर नियंत्रण के लिए विभिन्न तरह के प्रतिबंधों को लागू कर रही हैं। इसका ही एक हिस्सा शत-प्रतिशत टीकाकरण पर जोर देना भी है। इस दिशा में एक महत्वपूर्ण जानकारी सामने आई है। संकेत मिल रहे हैं कि जल्द ही 12 से 14 वर्ष के बच्चों का टीकाकरण शुरू कर दिया जाएगा।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी दी है कि देश में 12 से 14 वर्ष के आयु वर्ग के लिए टीकाकरण कार्यक्रम मार्च से शुरू होगा।

देश में अब तक 15-18 वर्ष के आयु वर्ग के तीन करोड़ से अधिक बच्चों को वैक्सीन की पहली खुराक मिल चुकी है। केवल 13 दिनों में, इस आयु वर्ग के लगभग 45 प्रतिशत बच्चों को टीका लगाया गया है। 3 जनवरी से 15-18 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों का टीकाकरण शुरू किया गया है।

 स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा,”जनवरी के अंत तक 15 से 18 साल के 7.4 करोड़ बच्चों को कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक मिल जाएगी। उसके बाद हम फरवरी की शुरुआत से इन बच्चों को दूसरी खुराक देना शुरू करेंगे और महीने के अंत में सभी को वैक्सीन की दूसरी खुराक मिल जाएगी। फिर हम फरवरी के अंत या मार्च की शुरुआत में 12-14 साल के बच्चों का टीकाकरण शुरू कर सकते हैं।”

जानकारों का कहना है कि 12 से 18 साल की उम्र के बच्चे बिल्कुल बड़ों की तरह होते हैं। इसलिए सबसे पहले यह टीका 15 से 18 वर्ष के किशोरों को देने का फैसला किया गया। इस उम्र से कम उम्र के बच्चों का टीकाकरण पूरा होने के बाद और छोटे बच्चों का टीकाकरण शुरू किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here