सीबीएसई बोर्ड परीक्षाः अब इस केंद्र शासित प्रदेश के सीएम ने भी की रद्द करने की मांग

देश में बढ़ते कोरोना के खतरे के बीच सीबीएसई बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं को लेकर अभी तक शंसय बना हुआ है। विद्यार्थियों से लेकर अभिभावक और शिक्षक भी फिलहाल ऑफलाइन परीक्षाएं आयोजित कराने के पक्ष में नहीं हैं।

देश के कई राज्यों में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए सीबीएसई बोर्ड की 10वीं व 12वीं की परीक्षाएं रद्द करने की मांग जोर पकड़ने लगी है। केंद्र शासित प्रदेश दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी कोरोना संकट को देखते हुए इसे रद्द करने की मांग की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है, ‘दिल्ली में 6 लाख बच्चे सीबीएसई की परीक्षा देने जा रहे हैं। साथ ही लगभग 1 लाख शिक्षक भी इसका हिस्सा होंगे। इससे बड़े पैमाने पर कोरोना फैल सकता है। बच्चों का जीवन और स्वास्थ्य हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। मैं सीबीएसई परीक्षा रद्द करने के लिए केंद्र से अनुरोध करता हूं।’

सीएम केजरीवाल ने कहा है कि इसके लिए कुछ वैकल्पिक तरीकों के बारे में सोचा जा सकता है। इस बार ऑनलाइन पद्धति या आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर बच्चों को पास किया जा सकता है। लेकिन सीबीएसई की परीक्षा रद्द होनी चाहिए।

संशय बरकरार
बता दें कि देश में बढ़ते कोरोना के खतरे के बीच सीबीएसई बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं को लेकर अभी तक शंसय बना हुआ है। विद्यार्थियों से लेकर अभिभावक और शिक्षक भी फिलहाल ऑफलाइन परीक्षाएं आयोजित कराने के पक्ष में नहीं हैं।

ये भी पढ़ेंः क्यों परेशान हैं नगर विकास मंत्री शिंदे? जानने के लिए पढ़ें ये खबर

1 लाख विद्यार्थियों की ये है मांग
बोर्ड के 1 लाख विद्यार्थियों ने परीक्षाओं को ऑनलाइन कराने या फिलहाल स्थगित करने की मांग की है। इनके साथ ही कांग्रेस के नेता राहुल गांधी तथा प्रियंका गांधी ने भी बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित करने की मांग की है। इनके आलावा चर्चित अभिनेता सोनू सूद ने भी ऐसे वक्त में परीक्षाएं आयोजित करने को लेकर आपत्ति जताई है। फिलहाल केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय और केंद्रीय शिक्षा बोर्ड परीक्षाओं की तारीखों को आगे बढ़ाने पर विचार कर रहा है। इस बीच इलाहाबाद कोर्ट ने परीक्षा में शामिल होने वाले विद्यार्थियों को टीका लगाने पर विचार करने को कहा है।

ट्विटर पर गरम है बहस
ट्विटर पर इन दिनों सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर चर्चा गरम है। कुछ छात्रों ने परीक्षाएं रद्द करने की मांग की है। हालांकि बोर्ड औ शिक्षा मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि परीक्षाएं रद्द नहीं होंगी, लेकिन उनकी तारीखें बदली जा सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here