एलन मस्क की कार टेस्ला की फैक्ट्री लगाने के लिए नेताओं में ट्वीट-ट्वीट प्रतिस्पर्धा! जानिये, किस नेता ने क्या कहा

एलन मस्क वर्तमान में भारत सरकार पर दबाव बनाने के लिए सोशल मीडिया का उपयोग कर रहे हैं। उन्होंने भारत में टेस्ला कार को लॉन्च करने के लिए कुछ शर्तें निर्धारित की हैं।

विश्व के सबसे धनी व्यक्ति अमेरिकी व्यापारी और टेस्ला कार कंपनी के सीईओ एलन मस्क ने भारत में अपनी समस्याओं को लेकर ट्वीट किया। उसके बाद उन्हें निवेश के लिए अपने-अपने राज्यों में आने के लिए न्योता देने वाले देश के राज्यों के मंत्रियों और नेताओं में प्रतिस्पर्धा शुरू हो गई।

हमेशा सुर्खियों में रहने वाले पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू इसमें पहले क्रमांक पर हैं, जबकि पश्चिम बंगाल के अल्पसंख्यक और मदरसा शिक्षा मंत्री मोहम्मद गुलाम रब्बानी दूसरे क्रमांक पर हैं।

टेस्ला कार के मालिक एलन मस्क को अब भारत में अपनी कार की मांग की कोई कमी नहीं दिख रही है। क्योंकि यहां के हर राज्य यह बताने की कोशिश कर रहे हैं कि उनके राज्य में संयंत्र लगाना उनका सही निर्णय होगा।

 नजर डालते हैं अलग-अलग राज्यों के मंत्रियों द्वारा किए गए ट्वीट पर

तेलंगाना राज्य का ट्वीट
केटी रामा राव ने लिखा, “हाय एलन, मैं भारतीय राज्य तेलंगाना का उद्योग और वाणिज्य मंत्री हूं। हम भारत/तेलंगाना में व्यवसाय स्थापित करने की चुनौतियों को दूर करने के लिए तैयार हैं। हमारा राज्य चैंपियन है। हमारा राज्य भारत में उच्च गुणवत्ता वाला व्यापार का केंद्र है।”

महाराष्ट्र से ऑफर
महाराष्ट्र के मंत्री जयंत पाटील ने ट्वीट किया, “एलन मस्क, महाराष्ट्र भारत के सबसे प्रगतिशील राज्यों में से एक है। हम आपको भारत में संयंत्र स्थापित करने के लिए प्रदेश से आवश्यक सभी सहायता प्रदान करेंगे। हम आपको महाराष्ट्र में अपना विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने के लिए भी आमंत्रित करते हैं।”

इन दोनों राज्यों के अलावा पश्चिम बंगाल सरकार ने भी टेस्ला को फैक्ट्री शुरू करने के लिए न्यौता दिया है। मस्क के ट्वीट पर पश्चिम बंगाल के मंत्री मोहम्मद गुलाम रब्बानी ने जवाब दिया।

इनके साथ ही पंजाब ने भी एलन मस्क को भी फैक्ट्री लगाने के लिए आमंत्रित किया। नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट कर पंजाब में बिजली और बैटरी उद्योग लगाने के लिए निवेश करने का अनुरोध किया।

सरकार पर दबाव बनाने की कोशिश
एलन मस्क वर्तमान में भारत सरकार पर दबाव बनाने के लिए सोशल मीडिया का उपयोग कर रहे हैं। उन्होंने भारत में टेस्ला कार को लॉन्च करने के लिए कुछ शर्तें निर्धारित की हैं। इसलिए उनको काफी चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। टेस्ला ने पिछले साल भारत में इलेक्ट्रिक कारों पर आयात शुल्क में कमी करने की मांग की थी। भारी उद्योग मंत्रालय ने टेस्ला को पहले भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों का उत्पादन शुरू करने के लिए कहा है। उसके बाद ही टैक्स कम करने को लेकर विचार करने की बात कही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here