22 अगस्त का इतिहासः इस मशहूर शहर का है जन्म दिन, 383 साल पहले हुआ था इसका जन्म

भारत में एक शहर का जन्म हुआ था। यह शहर तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई है। पहले इसका नाम मद्रास हुआ करता था।

इतिहास सिर्फ अपने में घटनाओं को नहीं समेटे होता है। इन घटनाओं से बहुत कुछ सीखा जा सकता है। देश-दुनिया के इतिहास में 22 अगस्त ने इतिहास के पन्नों पर अपना प्रभाव छोड़ा है। 22 अगस्त की तारीख भारत के लिए बेहद खास है। 383 साल पहले 22 अगस्त को ही भारत में एक शहर का जन्म हुआ था। यह शहर तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई है। पहले इसका नाम मद्रास हुआ करता था।

ईस्ट इंडिया कंपनी के आने से पहले मद्रास महत्वपूर्ण राजवंशों पल्लव, चोल, पांड्य और विजयनगर की प्रशासनिक, सैनिक और आर्थिक गतिविधियों का प्रमुख केंद्र हुआ करता था। 22 अगस्त, 1639 को ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने विजयनगर के राजा पेडा वेंकट राय से कोरोमंडल तट चंद्रगिरी में कुछ जमीन खरीदी। वेंकट राय ने अंग्रेजी व्यापारियों को यहां एक फैक्टरी और गोदाम बनाने की अनुमति दी थी। एक साल बाद ब्रिटिश व्यापारियों ने यहां सेंट जॉर्ज किला बनवाया। यह औपनिवेशिक गतिविधियों का गढ़ बना।

साल 1746 में मद्रास और सेंट जॉर्ज के किले पर फ्रांसीसी फौजों ने अपना कब्जा कर लिया। बाद में ब्रितानी कंपनी ने 1749 में एक्स ला शापेल संधि के तहत इसे हासिल कर लिया। अगले तीन दशक तक अंग्रेजों को और भी हमलों से जूझना पड़ा। 18वीं सदी के अंत तक अंग्रेजों ने सेंट जॉर्ज और आसपास के इलाके का विस्तार कर लगभग पूरे आधुनिक तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक को अपने अधीन कर लिया। इसके साथ ही उन्होंने मद्रास प्रेसिडेंसी की स्थापना की और मद्रास को यहां की राजधानी घोषित किया। भारत में ब्रिटिशकाल के दौरान मद्रास एक आधुनिक शहर और महत्वपूर्ण बंदरगाह के रूप में विकसित हुआ।

ये भी पढ़ें – सावधान! ट्रैफिक नियमों के उल्लघंन के मामले में मुंबई में एक दिन में कटे ‘इतने’ हजार चालान

मद्रास का आधुनिक नाम चेन्नई यहां के एक प्रमुख गांव चेन्नापट्टनम पर आधारित है। माना जाता है कि सेंट जॉर्ज किला मद्रासपट्टनम के पास होने के कारण अग्रेजों ने इसे मद्रास नाम दिया था। 1996 में राज्य सरकार ने मद्रास का नाम बदल कर चेन्नई कर दिया। वहीं, 22 अगस्त को ही देश में विदेशी कपड़ों की होली जलाई गई थी। यह होली महात्मा गांधी ने जलाई थी। तब स्वदेशी (खादी) के इस्तेमाल का नारा बुलंद हुआ । यह अंग्रेजों के खिलाफ अलग तरह का विद्रोह था।

इतना ही नहीं, यह तारीख हमारे खेल जगत के लिए भी खास है। साल 2018 में इसी तारीख को देश को पिस्टल निशानेबाजी में स्वर्णिम सफलता मिली । भारत की राही सरनोबत ने 25 मीटर निशानेबाजी स्पर्धा जीती थी और एशियाई खेलों की इस स्पर्धा में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनने का खिताब अपने नाम किया था।

महत्वपूर्ण घटनाचक्र
1138ः अंग्रेजी सेनाओं ने यॉर्कशायर के नॉर्थहेलर्टन के पास स्टेस्टीवल की लड़ाई में स्कॉटिश सेना को खदेड़ा।
1320: गाजी मलिक ने नसीरुद्दीन खुसरो को पराजित किया।
1639: ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई (तत्कालीन मद्रास) की स्थापना की।
1642ः इंग्लैंड के राजा चार्ल्स प्रथम ने नॉटिंघम में शाही मानक कायम किया।
1707ः स्वीडन और प्रशिया ने सैन्य संधि पर हस्ताक्षर किया।
1848: अमेरिका ने न्यू मैक्सिको पर कब्जा किया।
1849: ऑस्ट्रिया ने इटली के शहर वेनिस पर चालक रहित गुब्बारों से इतिहास का पहला हवाई हमला किया।
1921: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने विदेशी वस्त्रों की होली जलाई।
1922: जनरल माइकल कोलिन्स की पश्चिम कॉर्क में हत्या।
1944: अमेरिका, ब्रिटेन, रूस और चीन के प्रतिनिधियों ने संयुक्त राष्ट्र के गठन की योजनाओं को लेकर मुलाकात की।
1969: अमेरिका में समुद्री तूफान में 255 लोगों की मौत।
1989ः टेक्सास रेंजर्स के नोलन रयान ने ओकलैंड अथलेटिक्स के रिके हेंडरसन पर हमला किया।
2006ः पुलकोवो एयरलाइंस की उड़ान 612 पूर्वी यूक्रेन के पास दुर्घटनाग्रस्त। 170 लोग मारे गए।
2007: अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन की मरम्मत के लिए दो सप्ताह के मिशन पर गया अंतरिक्ष यान एंडेवर फ्लोरिडा में कैनेडी स्पेस सेंटर पर सुरक्षित उतरा।
2007: मिस्र के पुरातत्वविदों ने पश्चिम रेगिस्तान के सिवा क्षेत्र में लगभग 20 लाख साल पुराने मानव पद चिह्नों का पता लगाया।
2012ः कैलिफोर्निया में आपातकाल की घोषणा।
2012ः केन्या के ताना नदी जिले में जातीय संघर्ष। 52 लोगों की मौत।
2013ः इलेक्ट्रॉनिक स्टॉक एक्सचेंज कंप्यूटर की समस्या के कारण तीन घंटे के लिए बंद।
2018: राही सरनोबत 25 मीटर पिस्टल निशानेबाजी में स्वर्णिम सफलता हासिल कर एशियाई खेलों की निशानेबाजी स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनीं।

जन्म
1877ः भारत के सुविख्यात कला मर्मज्ञ आनन्द कुमार स्वामी।
1904ः चीन के नेता डेंग जियाओ पिंग।
1919ः प्रसिद्ध कवि एवं नाटककार गिरिजाकुमार माथुर।
1924ः हिंदी के प्रसिद्ध लेखक हरिशंकर परसाई।
1955ः प्रसिद्ध अभिनेता चिरंजीवी।

निधन
1818ः भारत के प्रथम गवर्नर जनरल वॉरेन हेस्टिंग।
2014ः ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित कन्नड़ के प्रसिद्ध साहित्यकार यूआर अनंतमूर्ति ।
2018ः कांग्रेस नेता गुरुदास कामत।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here