चार धाम यात्रा : पंजीकरण करवाने में अब लागू होगा ये नियम

जिलाधिकारी डॉ आर राजेश कुमार द्वारा दिए गए दिशा निर्देशों के अनुसार यात्रियों को ऋषिकेश में ज्यादा दिन नहीं रोका जाएगा।

पिछले 34 दिनों में चार धाम की यात्रा पर जा चुके 17 लाख 56 हजार 744 श्रद्धालुओं के बाद चार धाम जाने वाले यात्रियों की संख्या में गिरावट को देखते हुए यात्रा प्रशासन ने पहले आओ, पहले पाओ की नीति निर्धारित कर पंजीकरण के साथ बसों को उपलब्ध करवाना प्रारंभ कर दिया है।

यात्रा प्रशासक उप जिलाधिकारी शैलेंद्र नेगी ने बताया कि 8 जून की सुबह तक चार धाम यात्रा पर 123 बसों से 39 30 यात्रियों को भेजा गया। जिनकी संख्या 3 मई से 8 जून तक 17 लाख 56 हजार 7 44 हो चुकी है, यह संख्या शाम तक और बढ़ जाएगी। उन्होंने बताया कि 7 जून को जिलाधिकारी डॉ आर राजेश कुमार द्वारा दिए गए दिशा निर्देशों के अनुसार यात्रियों को ऋषिकेश में ज्यादा दिन नहीं रोका जाएगा।

ये भी पढ़ें – छत्तीसगढ़ : बोलेरो और आटो की टक्कर में दो महिलाओं की मौत

पहले आओ पहले पाओ की नीति
सभी नोडल अधिकारी धर्मशाला में जाकर यह सुनिश्चित करेंगे कि उन्हें बसें मिल रही हैं या नहीं। यदि पंजीकरण में कोई दिक्कत आ रही है, तो उनका पंजीकरण वहीं पर कर दिया जाएगा। इसी के साथ उन्होंने यह भी बताया कि चार धाम जाने वाले यात्रियों की संख्या में गिरावट को देखते हुए अब ऑनलाइन ऑफलाइन के साथ पहले आओ पहले पाओ की नीति के चलते सभी यात्रियों का पंजीकरण करवाकर उन्हें तत्काल बस उपलब्ध करवाई जाएगी, ताकि यात्रियों को किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े। शैलेंद्र नेगी ने यह भी बताया कि पिछले दिनों पंजीकरण के दौरान आई दिक्कतों के समाधान के लिए पंजीकरण कार्यालय के बाहर वाटर प्रूफ टेंट लगा दिया गया है। इससे बरसात और धूप से बच सकेंगे। इसी के साथ स्वयंसेवी संस्थाओं के माध्यम से पीने का पानी और खाने जैसी सुविधाएं भी उपलब्ध कराई गई है, जिसका यात्री भरपूर संख्या में लाभ उठा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here