सीबीएसई के छात्र ध्यान दें… अतिरिक्त 6 अंक दिये जाने के पीछे ऐसा है खेल

सीबीएसई के नाम से एक संदेश सोशल मीडिया पर प्रसारित हो रहा है। जिस पर अब शिक्षा बोर्ड ने स्पष्टीकरण दिया है।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने मंगलवार को स्पष्ट किया कि 12वीं कक्षा के अकाउंटेंसी पेपर में छात्रों को अनुग्रह (ग्रेस) के तौर पर 6 अंक देने का कोई फैसला नहीं किया गया है। बोर्ड का यह बयान इस संबंध में सोशल मीडिया पर वायरल एक खबर के बाद आया है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि पेपर में त्रुटि के कारण छात्रों को अनुग्रह अंक दिए जाएंगे।

बोर्ड ने एक आधिकारिक बयान में कहा कि बोर्ड के संज्ञान में आया है कि परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज के नाम से कथित ऑडियो संदेश का हवाला देते हुए फर्जी रिपोर्ट में यह दावा किया जा रहा है कि 13 दिसंबर को आयोजित 12वीं कक्षा के अकाउंटेंसी टर्म -1 पेपर में त्रुटि के कारण 6 अंक ग्रेस के तौर पर दिए जाएंगे।

ये भी पढ़ें – पीएम ने देर रात किया बनारस का भ्रमण, रेलवे स्टेशन के साथ ही इन स्थानों का भी किया निरीक्षण

झूठा है वह समाचार
बोर्ड के अनुसार, इस प्रकार की समाचार रिपोर्टों में सामग्री पूरी तरह से निराधार और झूठी है। इस संबंध में किसी भी पत्रकार ने परीक्षा नियंत्रक, सीबीएसई से बात नहीं की है और बोर्ड ने ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया है। इसलिए, सीबीएसई जनता को चेतावनी देता है कि वे इसके शिकार न हों। इस तरह की असत्यापित खबरों से बचें।

बोर्ड ने भविष्य में इस तरह की घटनाओं से बचने के लिए अपनी प्रश्न पत्र सेटिंग प्रक्रिया को मजबूत करने और समीक्षा करने के लिए एक विशेषज्ञ समिति के गठन की भी घोषणा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here