उत्तर प्रदेश के अस्पतालों में उस अभियान से सुधर रही सेवा

उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक के ‘‘स्वास्थ्य आपका संकल्प सरकार का’’ अभियान को लेकर अस्पतालों में खलबली मची है। इससे बीमारों की देखरेख बढ़ गई है।

उत्तर प्रदेश के सरकारी मेडिकल संस्थानों की व्यवस्थाएं गुरुवार को चाक चौबंद नजर आईं। ओपीडी से लेकर वार्ड तक का डॉक्टरों ने सुबह और शाम को राउंड लिया। मरीजों की सेहत व सुविधाओं का हाल जाना। डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक के ‘‘स्वास्थ्य आपका संकल्प सरकार का’’ अभियान को लेकर अस्पतालों में खलबली मची रही।

बढ़ी निगरानी
लखनऊ में केजीएमयू, बलरामपुर, लोहिया, सिविल, रानी लक्ष्मीबाई, लोकबंधु, डफरिन, झलकारीबाई समेत अन्य अस्पतालों का संचालन हो रहा है। सीएमओ के अधीन सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हैं। इन अस्पतालों की ओपीडी में रोजाना लभगभ 30 से 35 हजार मरीज आ रहे हैं। मरीजों को भर्ती कर इलाज मुहैया कराया जा रहा है। डिप्टी सीएम के अभियान के बाद डॉक्टरों ने सुविधाओं की निगरानी बढ़ा दी है।

-सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल ने समय पर ओपीडी के संचालन के निर्देश दिए। डॉक्टर व कर्मचारियों को अस्पताल की दवा लिखने के निर्देश दिए हैं।

-केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह ने बताया कि कुलपति ने सभी डॉक्टरों को हॉस्पिटल रिवॉल्विंग फंड (एचआरएफ) के स्टोर की ही दवा लिखने के निर्देश दिए हैं। मरीजों के प्रति अच्छा बरताव रखने को कहा गया है।

ये भी पढ़ें – बढ़ रही है शिंदे की शक्ति, इन तीन विधायकों ने भी किया समर्थन!

-बलरामपुर अस्पताल के सीएमएस डॉ. जीपी गुप्ता ने बताया कि मरीजों को अस्पताल की ही दवा लिखने के लिए कहा गया है। अस्पताल में पर्याप्त दवाएं हैं। जांच की सुविधा भी मुफ्त मुहैया कराई जा रही है। सुबह और शाम को राउंड लिया जा रहा है। इमरजेंसी में सभी मरीजों को इलाज मुहैया कराने के निर्देश हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here